.

.



देहरादून: राजधानी देहरादून में एक कलयुगी बाप ने रुपयों के लालच में अपने डेढ़ वर्षीय मासूम बेटे को बेच डाला। बच्चे की खरीद-फरोख्त का ये सनसनीखेज मामला तब सामने आया, जब बच्चे की मां ने पति से पूछताछ की। इसके बाद महिला पुलिस थाने पहुंची व पति पर बच्चे को बेचने का आरोप लगाया। पुलिस ने जांच-पड़ताल के बाद 24 घंटे में बच्चे को बरामद कर लिया। आरोपी पिता, दलाल और ग्राहक को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन पर मासूम की खरीद-फरोख्त का मुकदमा दर्ज किया गया है।
यह सनसनीखेज मामला बुधवार की रात पटेलनगर थाने में सामने आया। पुलिस के मुताबिक, आइएसबीटी के पास नई बस्ती निवासी गोविंद थापा चाऊमीन-मोमो की ठेली लगाता है। मंगलवार देर रात उसकी पत्नी शोभा देवी पटेलनगर थाने पहुंची व गोविंद पर अपने डेढ़ साल के मासूम बेटे सौरभ को बेचने का आरोप लगाया। बच्चे की खरीद-फरोख्त के मामले से पुलिस में हड़कंप मच गया। एसएसपी नीरू गर्ग के निर्देश पर सीओ सदर सरिता डोभाल और इंस्पेक्टर पटेलनगर एसएस बिष्ट की टीम जांच में लगाई गई। पुलिस ने रात में ही गोविंद को हिरासत में ले लिया। पूछताछ में उसने बताया कि सौरभ को विकासनगर क्षेत्र के अंबाड़ी निवासी जमींदार मोहम्मद अली को दिया गया है। बच्चे की एवज में मोहम्मद अली ने गोविंद को तीस हजार रुपये दिए थे। बुधवार सुबह पुलिस टीम ने अंबाड़ी में मोहम्मद अली के घर छापा मार सौरभ को बरामद कर लिया। मो. अली को गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में पता चला कि बच्चे का सौदा चंद्रबनी चोयला निवासी राजनाथ थापा के माध्यम से हुआ था। राजनाथ सरकारी मेडिकल कंपनी का कर्मचारी है। बुधवार रात पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया। एसएसपी नीरू गर्ग ने बताया कि सौदे की रकम के 24 हजार पांच सौ रुपये आरोपी गोविंद से बरामद किए गए हैं। उन्होंने बताया कि मोहम्मद अली ने अपनी बेटी जाहिरा खान निवासी कारगिल (जम्मू-कश्मीर) के लिए बच्चा खरीदा था। जाहिरा को शादी के सात साल बाद भी बच्चा नहीं हुआ था। मोहम्मद के घर में दलाल राजनाथ का आना-जाना था। मोहम्मद से बातचीत के बाद राजनाथ ने उन्हें बच्चा दिलाने की बात कही। राजनाथ को पता चला कि गोविंद के तीन बच्चे हैं और वह सबसे छोटे को बेचना चाहता है। उसने गोविंद को झांसे में देकर बच्चे का सौदा करा लिया। आरोपियों ने सौरभ को गोद देने का शपथ-पत्र भी बना लिया था, मगर उनका पर्दाफाश हो गया। एसएसपी ने बताया कि शोभा देवी की तहरीर पर उसके पति गोविंद, दलाल राजनाथ व ग्राहक मो. अली के विरुद्ध आइपीसी की धारा-372 और 373 (मानव की खरीद-फरोख्त) के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। तीनों को गुरुवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। मासूम सौरभ को मां शोभा के सुपुर्द कर दिया गया है।


See More

 
Top