.

.

uttarakhandnews1.blogspot.in


इंसु का हीयोंद बरखा यनी बरखी गेयी ! बाड़ी सग्वाड़ी, दांडी कांठियों मा मोयिआर पड़ी गेयी
कखि भलु कखि बुरु करी ! गंगा माँ बिख्राल बणी गेयी !!!
आज ये सब नुकशान के गुन्हगार हम सब हैं क्यों की इन्शान अपने स्वार्थ के लिये 
पवित्र पावनी माँ गंगा और उत्तराखंड की परकृति के साथ छेड़ छाड़ कर रहा है ! 
जय देवभूमि !! जय उत्तराखंड ! (सरवीर पंवार कुवैत )


See More

 
Top