.

.

uttarakhandnews1.blogspot.in







गढ़ गढ़ प्रसिद्ध यख मेरी गौरजा भवानी 
सची ध्यायी हवेली मैं तू गौरा प्रकट हवे जेई 
गौंत मोला कु घंसू धोली लालु तेरु रौंसा

तेरी ध्यणी बुलोलू गौरा दूर दूर बनि मैता 
स्नान करली गौरा तब पैतालि तू पैता 
तेरी रौन्सुल्या थाली हल्योलू सवा टोला कांसो 
किल्क्वारी मारी की आली लगलू तेरु रांसो

नौ दिना कु थौलू तेरु नौ बाजा लागोलू 
नौ दिन नौ रति त्वेकू भार्दारी पट नचोलू 
प्रकट हवे जली गौरा नयी थौला आज

नौ दिना कु थौलू तेरु नौ बाजा लागोलू 
नौ दिन नौ रति त्वेकू भार्दारी पट नचोलू 

जय हो मैठयाणा माँ जय हो चन्दरबदनी माँ 
जय हो धारी देवी माँ जय हो सुरकंडा माँ 

प्रकट हवे जली गौरा नयी थौला आज
प्रकट हवे जली गौरा नयी थौला आज


Jai Mata di ...............


See More

 
Top