.

.

uttarakhandnews1.blogspot.in










जाख राजा ....(स्थान जाखधार, निकट गुप्तकाशी, जनपद रुद्रप्रयाग )

पिछले १४ एवं १५ अप्रैल को संपन्न हुए इस परमपरागत धार्मिक अनुष्ठान के साक्षी बने केदारघाटी के श्रध्धालु ..!
वर्ष १९०११ से प्रारम्भ हुए इस धार्मिक अनुष्ठान में आज भी वही प्रवाह, परम्परा और घोर विश्वाश विद्यमान है! जाख के पश्वा आज भी जब अग्नि में प्रविष्ट होते हैं आस्थाओं और अनास्थाओं के बीच की यह धार्मिक और सांस्कृतिक घटना सदैव इस क्षेत्र के लिए कौतूहल बन जाती है....
ऐसे आयोजन मावीय आस्थाओं के के वो प्रमाण भी हैं जिन्हें प्राकृतिक आपदाएं और सामजिक टूटन जैसे भीषण खतरों की भी परवाह नहीं ! 
क्षेत्र के ईष्ट जाख राजा को शत शत नमन... !!!


See More

 
Top