.

.

uttarakhandnews1.blogspot.in





बाज़ीचा-ऐ-अत्फाल है दुनिया मेरे आगे,
होता है शबो-रोज़ तमाशा मेरा आगे,
मत पूछ कि क्या रंग है मेरा तेरे पीछे,
ये देख कि क्या हाल है तेरा मेरे आगे.... 

(बाज़ीचा-ऐ-अत्फाल -बच्चो के खेल का मैदान )
ज़लज़ले की एक तस्वीर और ग़ालिब के ये बयान ,पढने वाले समझदार हैं...!!


See More

 
Top