.

.

uttarakhandnews1.blogspot.in

घनसाली (टिहरी)। एक ओर जहां आपदा से खोज और बचाव के लिए पूरे देश से मदद के हाथ बढ़ रहे हैं, वहीं यहां जगह-जगह फंसे यात्रियों से मनमाना मूल्य वसूला जारहा है। जिससे यात्रियों में गुस्सा है। उन्हाेंने एसडीएम का घेराव कर अपनी नाराजगी का इजहार कियाहै। कहा कि उनकी मजबूरी का फायदा न उठाया जाए। प्रशासन कोचाहिए कि वह होटलों में कमरों और अन्य सामानों की मूल्य सूचीअंकित करवाएं।
तीन दिनों से यात्रा मार्ग की सभी सडकें बंद है। घनसाली में भी करीब 400 यात्री फंसेहैं। यात्रियों का कहना है कि प्रशासन के स्तर पर उन्हें कोई सुविधा मुहैया नहीं कराई जा रही है। व्यापारी मनमाना दाम वसूल रहे हैं। होटल में एक छोटे से कमरे का किराया 1200 रूपये तक लिया जा रहा है। यही स्थिति खाने-पीने के सामान की भी है। मार्ग खुलने के बारे में भी सही जानकारी नहीं दी जा रही है।
यात्री प्रदीप गुप्ता,हरीश चंद, जगमोहन वर्मा, दीपक का कहना है कि प्रशासन द्वारा उन्हें कंट्रोल रूम कागलत नंबर दिया गया है। जिससे यात्री भटक कर बंद रास्तों में जा रहे है। गुस्साएं व्यापारियों ने बाजार में एसडीएम जगदीश लाल का घेराव किया। उन्हेंजमकर खरीखोटी सुनाई। एसडीएम ने व्यापार मंडल के पदाधिकारियों से यात्रियों से वार्ता करवाई। व्यापार मंडल ने भरोसादिलाया कि वे पूरी तरह से यात्रियों की मदद करेंगे। कोई भी मनमानादाम नहीं वसूलेगा।
कोट-
व्यापार मंडल से वार्ता होने के बाद व्यापारियों से होटलों में ठहरने तथा खानें के उचित दाम लेने के निर्देश दिए गए हैं । यात्रियों को मार्ग बंद होने सबंधी जानकारी समय-समय पर पुलिस और राजस्व कमियों के माध्यम से दी जा रही है। -जगदीश लाल एसडीएम घनसाली


See More

 
Top