.

.

uttarakhandnews1.blogspot.in



आज जहा दुनिया परिवर्तन की राह अग्रसर नजर आ रही ही वही प्राचीन इंजीनियरिंग के कुछ ऐसे अजूबे हे जिन्हे हम आज भी बदल नहीं सकते हे| इसी कड़ी में एक कड़ी हमारे उत्तराखंड के प्राचीन तरीको से बने हुए साधारण से दिखने वाले घर हे । ये घर साधारण से दिखने में लग सकते हे मगर इनकी तकनीक का आज भी कोई मुकाबला नहीं हे।

इन घरों की छत्त पहाड़ी पत्थरों से ढकी हुई हे और अंदर से ये गारे तथा लकड़ी की बानी हे । ये मकान वातावरण के अनुसार अपने को ढाल लेते हे सर्दियों ये मकान ऊष्मा को बहार नहीं जाने देते और दर्मिओं में ये मकान अंदर ठण्ड बनाये रखते हे ।

गायें के गोबर से इन मकानो को लीपा जाता हे जिस से मकान के शुद्धता का वातावरण बना रहता हे|

इन घरों की नीव को विशेष ढंग से बनाया जाता हे जो की अत्यधिक तीव्रता वाले भूकम्प को भी झेल सकते हे ।

यदि आप या आपके परिवार को कोई भी सदस्य अपने पुश्तैनी ग्राम के मकान को दोबारा से नए ढंग से बनाने का विचार कर रहा हो तो कृपया इसी प्राचीन तकनीक से ही अपना मकान बनाये| जिसका लाभ हमारे आने वाली पीढ़ियां भी ले सके

धन्यवाद

अजय गौड़
उत्तराखंड समाचार 1


See More

 
Top