.

.

uttarakhandnews1.blogspot.in

विदेशी नौकरी हुआ टिहरी का 'सपना', नई टिहरी : विदेशी नौकरी टिहरी के युवाओं का 'सपना' बन गया है। हर साल बड़ी संख्या में जिले के युवा पासपोर्ट बनाकर देश से बाहर जाने के लिए जोड़ तोड़ कर रहे हैं। बाहर जाने की इसी जोड़ तोड़ में कई बार वह दलालों के हाथों ठगे भी जा रहे हैं और कई बार मुसीबत में भी पड़ रहे हैं।
विदेश में जाकर नौकरी करने का सपना अधिकतर युवाओं का होता है। टिहरी के युवाओं की बात करें तो यहां भी विदेशी नौकरी का क्रेज युवाओं के सिर चढ़कर बोल रहा है। हर साल बड़ी संख्या में युवा पासपोर्ट के लिए आवेदन कर रहे हैं। ऐसी में विदेशी नौकरी पाने के लिए वो दलालों का सहारा ले रहे हैं और उनके चंगुल में फंस जा रहे हैं। धनोल्टी तहसील के लामकांडे गांव के युवक जयेंद्र के साथ भी दलालों ने ऐसा ही किया। टिहरी में वर्ष 2012 में 3000 युवाओं ने पासपोर्ट बनवाया। जबकि पिछले साल 4805 युवाओं ने पासपोर्ट बनाया। इस साल छह महीने में ही 2559 युवा पासपोर्ट बनवा चुके हैं।
'विदेश में नौकरी के संबंध में युवा अच्छी तरह पड़ताल करने के बाद ही फैसला लें। अंजान व्यक्ति और दलालों के झांसे में न आएं। कोई भी विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर पैसा मांगे तो पुलिस की मदद लें'
मुख्तार मोहसिन, पुलिस अधीक्षक, टिहरी गढ़वाल
ठगे गए थे युवक
पिछले साल चंबा ब्लाक में कुछ युवकों को विदेश में नौकरी दिलाने के नाम एक व्यक्ति ने लाखों रुपये ठग लिए थे। युवक जब दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचे तो वहां उनके सभी कागजात फर्जी पाए गए। युवक किसी तरह दिल्ली से बचकर अपने - अपने घर पहुंचे। इसके बाद युवकों ने चंबा थाने में आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था।
इन बातों का रखें ख्याल
- विदेश जाने के लिए किसी परिचित की ही मदद लें, अंजान व्यक्ति पर भरोसा न करें
- बाहर जाने के लिए जरूरी कागजों की जांच विशेषज्ञ से कराएं
- ऊंची तनख्वाह पर नौकरी दिलाने के झांसे में न फंसे
- बिना जानकारी लिए किसी को रुपये न दें
- जिस व्यक्ति की मदद ले रहे हैं उसकी पूरी जानकारी अपने पास रखें


See More

 
Top