.

.

uttarakhandnews1.blogspot.in



घूमने जरूर जाएँ 
दोस्तों, जैसा की आपको दिख रहा है ये मकान। दरअसल ये मकान पहाड़ की शैली में बना गेस्ट हाउस है। एक विदेशी कम्पनी ने लीज पर इसे बनाया है। इसमें विदेशी मेहमान ठरते हैं। गेस्ट हाउस खाली होने पर लोकल बुकिंग भी मिल जाती है। दोस्तों यह सुन्दर गेस्ट हाउस शौकियाथल ( वृद्ध जगेशवर) में बना है। इसकी खाशियत है इसकी बनावट पहाड़ी शैली के मकान जैसी है। इसके अंदर भी फर्श मिटटी (पाल) का है और छत जैसा की आपको दिख रहा है वो पत्थर का। इसमें सीमेंट और लोहे का कोइ काम नहीं है। पूरा भवन मिटटी, पत्थर और लकड़ी का बना है। जिस जगह पर ये गेस्ट हाउस बना है वो काफी अच्छी है। पूरा हिमालय दिखता है। समुद्र सतह से ७००० हजार फिट की ऊंचाई पर है। हल्द्वानी और आसपास जहां लोग गर्मी से बेहाल हैं , इस जगह में इतनी ठण्ड है की सुबह नहाने के लिए पानी गरम करना पड़ रहा है। रात में रजाई ओढनी पड़ रही है। देवदार और बांज का जंगल होने के कारण दिन भर इतनी तेज हवा चलती है की देवदार और बांज के पेड़ों के पत्ते मानो संगीत सुना रहे हों। आपको मौका मिले तो सुकून के कुछ दिन ठहरने एक बार इस जगह जरूर जाये ।


See More

 
Top