.

.



uttarakhandnews1.blogspot.in







पूर्व CM की बेटी की शादी -
मशहूर नृत्यांगना आरुषि पोखरियाल 'निशंक' के विवाह समारोह में शामिल होने का मौका मुझे भी मिला । आरुषि उत्तराखंड के पुर्व मुख्यमंत्री एवं वर्तमान में हरिद्वार सांसद रमेश पोखरियाल 'निशंक' की सबसे बड़ी सुपुत्रि हैं । 
समारोह में दिखाई दी बेहद सादगी : -
दरअसल अब देहरादून में एक नया कल्चर डेवलेप हो गया है , अधिकांश लोग अब शादी व्याह में एक तरफ सामान्य पंडाल तो दूसरी ओर अति विशिष्ट लोगों के लिए VVP पंडाल भी लगवा रहे हैं । परन्तु कल आरुषि की शादी में ऐसा भेदभाव न देखकर मन को तसल्ली मिली एक पूर्व मुख्यमंत्री की बेटी की शादी थी और उसमे कोई अतरिक्त तामझाम का न होना अविश्वसनीय था । इस बात के लिए निशंक जी का धन्यवाद । 
जबकि समारोह में सभी दलों के बड़े नेताओं ने शिरकत की प्रदेश के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने काफी समय बिताया जबकि राज्यपाल मुख्य द्वार से होते हुए भारी भीड़ के बीचों-बीच सादगी से सीधे वर वधू को आशीर्वाद देने मंच पर पहुँच गए थे । इसी बीच भीड़ से घिरे आरुषि के पिता निशंक जी को बताया गया कि गवर्नर साहब मंच पर हैं तो वह भी भीड़ से बचते बचाते गवर्नर का स्वागत करने पहुंचे । फिर एक के बाद एक vip - vvip के आने जाने का सिलसिला आरम्भ हुवा ।
लेकिन मुझे यहाँ पर अच्छा यह लगा कि रमेश पोखरियाल 'निशंक' अपने पिता होने के धर्म को निभाते हुवे क्या आम और क्या खाश प्रत्येक व्यक्ति के बीच में जा जाकर सबका आभार प्रकट कर रहे थे । निशंक जी को ज्यादा वक्त व्यवस्थाओं का जायजा लेते हुवे ही देखा जा रहा था । 
पहाड़ी व्यंजनों के चटकारे -
यूँ तो आरुषि की शादी में वर्तमान समय के सभी पसंदीदा व्यंजनों के भिन्न-भिन्न स्टॉल लगे थे । परन्तु सबसे ज्यादा भीड़ उमड़ रही थी पहाड़ी व्यंजन में कोदे की रोटी , कापलि, पटुड़ी , भुज्जी , कड़ी , दाल भात व झंगोरे की खीर वाले स्टॉल'स पर । 
साथ ही मक्के की रोटी सरसों द साग पंजाबी व्यंजनों वाले स्टॉल पर भी जोरदार भीड़ जमा हो रही थी । 
जबकि बच्चों का जमावड़ा चाउमिन , मंचूरियन , पावभाजी ,चाट , कुल्चे, गोल गप्पे व दमालू आदि के स्टॉल पर लगा रहा । 
शहनाई ने मन मोहा -
अमूमन विवाह समारोहों में फूहड़ गानों पर आधारित कान फोड़ू म्यूजिक पर हुड़दंग मचा रहता है परन्तु इस विवाह में चार चाँद लगाए भारतीय संस्कृति के प्रतीक शहनाई की धुनों ने । मुख्य तोरण द्वार जिसे भव्यता प्रदान की गई थी पर मौजूद थे लाइव शहनाई वादन कर रहे कलाकार । 
द्वार से अंदर प्रवेश करते ही उत्तराखंडी कलाकारों द्वारा ढोल दमाऊ और मशकबीन की धुन पर आगंतुकों का स्वागत किया जा रहा था । 
इस विवाह समारोह में लगभग 12 से 15 हजार लोगों ने शिरकत की होगी । 
बहरहाल इस समारोह को मैं बहुत हाई प्रोफाइल खर्चे वाली शादी समारोह नहीं मान सकता हूँ । क्योंकि यह समारोह 1990 के दशक से स्थापित नेता के घर का था जो कि उत्तर प्रदेश के काबीना मंत्री से लेकर उत्तराखंड का मुख्यमंत्री रह चुका है और वर्तमान में सासद भी है । 
इस लिहाज से इस विवाह के लिए तो कई वैडिंग प्लानर महीनों से रिहलसल कर रहे होते । परन्तु निशंक जी के रुतबे के हिसाब से यह समारोह सादगी भरा ही माना जायेगा । और इस पहल के लिए मुझे रमेश पोखरियाल 'निशंक' जी की सराहना करने में भी कोई गुरेज नहीं है । 


See More

 
Top