.

.

uttarakhandnews1.com




देश के प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी चाहे जितना दम लगा दें लेकिन अब ऐसा लगता है कि भाजपा की जो कुगत होने वाली है उसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता.
उत्तराखंड में हरिद्वार जिले के भगवानपुर उप-चुनाव की करारी शिकस्त ने फिलहाल यह तो दर्शा दिया है कि प्रदेश में भाजपा के पास ऐसा कोई मुखौटा नहीं है जिसे चमकाने के लिए पार्टी मशकत करे. दिनों दिन घटता जनाधार कहीं न कहीं भाजपा के अंदरखाने चल रहे द्वंद्ध को सार्वजनिक कर रहा है.
भगवानपुर चुनाव में डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक के मैदान में उतारते ही जिस तरह हरिद्वार के कदावर भाजपा नेता मदन कौशिक ने कूटनीति से सारे आंकड़े बिपक्ष के पक्ष में कर हैरत में डाल दिया क्या वह उस राजनीति का हिस्सा है कि किसी भी तौर पर वह हरिद्वार में अपने एकक्षत्र बर्चस्व को खत्म होता नहीं देखना चाहते या फिर खुद को अगला मुख्यमंत्री प्रोजेक्ट करने का उनका सपना है.
फिलहाल प्रदेश के पास थर्ल्ड फ्रंट के नाम पर कुछ नहीं है वरना यह तय था कि सन 2007 का चुनाव न कांग्रेस का होता न भाजपा का.
फिर भी मुख्यमंत्री हरीश रावत व कांग्रेस के उन तमाम नेता व कार्यकर्ताओं को बधाई जिन्होंने भाजपा को इस उपचुनाव में बेहद शर्मनाक हार दी.


See More

 
Top