.

.

uttarakhandnews1.com




देहरादून:  24 जुलाई, 2015

केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार बनने के बाद देश में संघ की शाखाओं में 2000 से ज्यादा की बढ़ोतरी हुई है।

मगर संघ इसका श्रेय सीधे मोदी को देने के पक्ष में नहीं है। उसका मानना है कि शाखाओं का बढ़ना मोदी नहीं बल्कि संघ की बढ़ रही स्वीकार्यता की वजह से है। स्वयं सेवकों का आचरण एवं संपर्क ही संघ के बढ़ने का औजार है।

वह लोकसभा चुनाव 2014 के अप्रत्याशित सियासी परिणामों को भी महज मोदी मैजिक का नतीजा नहीं मान रहा है। उसका कहना है कि यह परिणाम अंग्रेजों के भारत छोड़ने की घटना के बाद का सबसे बड़ा परिवर्तन है और यह बदलाव महज संघ या किसी अकेले व्यक्ति की वजह से नहीं है।

कामकाज पर आत्ममंथन के लिए हर साल होने वाली अखिल भारतीय प्रांत प्रचारकों की बैठक के दूसरे दिन चुनिंदा पत्रकारों से बातचीत करते हुए मनमोहन वैद्य ने ‘द गार्डियन’ अखबार की संपादकीय के शीर्षक का उल्लेख करते हुए कहा कि 18 मई 2014 को सही मायने में अंग्रेजों ने भारत छोड़ दिया।

संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख वैद्य ने कहा कि समाज में परिवर्तन हो रहा है। परिवर्तन का माहौल बनाने के लिए कई लोगों ने काम किया है। उसमें से संघ भी एक है। मोदी शासन में शाखाओं की संख्या बढ़ते पर वैद्य ने कहा कि पीएम ने युवाओं पर जरूर प्रभाव डाला है।
Courtesy: अमर उजाला



See More

 
Top