.

.

uttarakhandnews1.com



देहरादून:  24 जुलाई, 2015

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने शुक्रवार को उद्योगपतियों से प्रदेश में लघु जल विद्युत परियोजनाओं तथा सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों (एमएसएमई) में निवेश करने के साथ ही उन्होंने युवाओं को तकनीकी तौर पर सक्षम बनाने एवं एवं दक्षता विकास में सहयोग की भी अपेक्षा की।

एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार, पी.एच.डी.चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री, उत्तराखण्ड के सदस्यों से वार्ता के दौरान मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि प्रदेश में इको टूरिज्म के क्षेत्र में भी काफी संभावनाएं है और इस क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार पर्यटन को उद्योग का दर्जा देने जा रही है।

पर्वतीय क्षेत्रों से पलायन रोकने के लिये सरकार द्वारा बनाई गई योजनाओं की जानकारी देते हुए रावत ने कहा कि मेरा गांव-मेरा धन योजना का उद्देश्य ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करना व लोगों को गांवो की ओर ले जाने का प्रयास है।

मुख्यमंत्री ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में सड़क, बिजली, पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं के विकास में हजारों करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं लेकिन इनका तभी सदुपयोग होगा जब गांवो में लोग रहें और आवाजाही बढ़े।
Courtesy: नवभारत टाइम्स




See More

 
Top