.

.

uttarakhandnews1.com



रुद्रप्रयाग: 26 जुलाई, 2015

उत्तराखंड के कई गांवों में बादल फटने से तबाही मच गई। मानसून के इस कहर से आवासीय भवनों व कृषि भूमि को भारी नुकसान हुआ है।

शनिवार देर रात मूसलाधार बारिश हुई जिससे जिले में जखोली और अगस्त्यमुनि ब्लॉक के अलग-अलग गांवों में बरसाती गदेरों में बादल फटा। इसमें आवासीय भवनों व कृषि भूमि को भारी नुकसान हुआ। पेयजल लाइनें व सिंचाई नहरें ध्वस्त हो गईं।

पुलिस और प्रशासन द्वारा प्रभावित इलाकों का निरीक्षण कर स्थिति का जायजा लेने के बाद प्रभावित परिवारों को फौरी तौर पर मदद दी गई है। गांवों में लोग दहशत में जी रहे हैं। बादलों की तेज गर्जना और बिजली की चमक के साथ हुई मूसलाधार बारिश से ग्राम पंचायत बर्सू के जयमंडी गांव में भारी नुकसान हुआ।

गांव के निकट बह रहे चारगढ़ गदेरे में ऊपरी क्षेत्र में बादल फटने से भारी मलबा और पानी बढ़ गया जिससे गांव की कई नाली कृषि भूमि बह गई। दो मकानों में मलबा घुस गया।

गांव की लघु सिंचाई नहर, पेयजल लाइन, पैदल रास्ता और गांव को रुद्रप्रयाग से जोड़ने के लिए बनी पैदल पुलिया भी बरसाती गदेरे के सैलाब में बह गई। ग्राम प्रधान सुरेंद्र सिंह बिष्ट ने बताया कि गदेरे के दोनों तरफ भू-कटाव हुआ है जिससे दो मकानों को खतरा पैदा हो गया है।
Courtesy: अमर उजाला




See More

 
Top