.

.

uttarakhandnews1.com

अल्मोड़ा में उतरा जन सेवा का स्वर्ग वाहन...!
कार्य निष्ठा और समाज सेवा की भावना अगर हम दिल में ठान लेते हैं तो ऐसा काम कोई नहीं होता जो किया न जा सके. जिला अल्मोड़ा का नाम आते ही गढ़वाल मंडल का पौड़ी और कुमाऊ मंडल में अल्मोड़ा विकास के नाम पर दोनों मंडलों में अग्रिम माना जाता रहा है. लेकिन यह क्या कुमाऊ के अल्मोड़ा जैसे शहर में स्वर्ग वाहन नहीं...!
अब स्वर्ग वाहन का आप तात्पर्य पूछेंगे तो मेरा जवाब भी वही होगा जो शोभा जोशी जी देंगी. तो क्यों न हम शोभा जोशी जी के मुखार बिंदु से ही स्वर्ग वाहन का वर्णन सुन लें.
राष्ट्रीय जन सेवा समिति अल्मोड़ा की अध्यक्ष शोभा जोशी ने स्वर्ग वाहन के बारे में फोन पर जानकारी देते हुए बताया कि मृत आत्माओं को घाट तक ले जाने या कब्रिस्तान तक ले जाने के लिए अल्मोड़ा में कोई वाहन नहीं था अत: उनकी संस्था ने अथक प्रयास कर चंदा जुटाया कर्जा लिया और 6 लाख जोड़े, 6 लाख प्रदेश के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अपने विवेकाधीन कोष से सहायता दी. इस तरह एक स्वर्ग वाहन खरीदा गया जो 25 सीटर था. जिसकी सभी सीटें उखाड़कर एल सेफ की सीटें बनाई गई जिसमें 25 लोगों के बैठने की व्यवस्था के साथ मृत आत्मा को स्वर्ग (घाट) तक ले जाने की समुचित व्यवस्था है. ठीक वैसे ही इस वाहन को डिजाईन किया गया है जैसे 108 अमर्जेंसी सेवा वाहन है.
श्रावण मॉस के पहले सोमवार को चितई मंदिर में पूजा अर्चना के बाद यह वाहन पूर्व पालिका अध्यक्ष विजय जोशी को समर्पित किया गया है. यह स्वर्ग वाहन मूलत: उन गरीब परिवारों की सेवा के लिए है जिनके पास धन और संसाधनों की कमी है. ऐसी स्थिति में उन्हें यह निशुल्क दिया जाएगा जबकि अन्य जो सक्षम हैं उनसे उनकी इच्छानुसार रुपये एक हजार चंदा लिया जाएगा बशर्ते वे देना चाहें.
मनोज इस्तवाल



See More

 
Top