.

.

uttarakhandnews1.com




देहरादून: 22 जुलाई, 2015

आईआईटी रुड़की से निकाले गए 73 छात्रों में से 2 को छोड़ अन्य को हाई कोर्ट से भी निराशा हाथ लगी है। कोर्ट ने निष्कासित छात्रों की ओर दायर की गई याचिका में से 2 छात्रों को छोड़ अन्य सभी की याचिका को खारिज कर दिया। सीजीपीए यानी ग्रेड पॉइंट 5 से ज्यादा होने पर 2 छात्रों को ही राहत दी गई। जस्टिस आलोक सिंह की सिंगल बेंच ने बुधवार को यह फैसला सुनाया। इससे पहले आईआईटी रुड़की से निकाले गए छात्रों के परिजनों ने निष्कासन के खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी।

याचिकाकर्ताओं का कहना था कि अध्यादेश 2014 के पैरा-33 के अनुसार केवल उन्हीं छात्रों को संस्थान से बाहर किया जा सकता है जो फर्स्ट ईयर के अंत में निर्धारित अर्न क्रेडिट और सीजीपीए लाने में असफल रहते हैं। छात्रों का कहना था कि उनका अर्न क्रेडिट निर्धारित 22 अंक से ज्यादा है इसलिए उनका रजिस्ट्रेशन कैंसल नहीं किया जा सकता है।
Courtesy: नवभारत टाइम्स



See More

 
Top