.

.

uttarakhandnews1.com



चम्पावत: 31 जुलाई, 2015

उत्तराखंड के टनकपुर स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यायल की वॉर्डन का बेहद शर्मनाक चेहरा सामने आया है।

कुमाऊं आयुक्त के आदेश पर जिला शिक्षा अधिकारी बेसिक यशवंत सिंह चौधरी ने कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय की वार्डन सुनीता सुकोटी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर खंड शिक्षा अधिकारी बाराकोट कार्यालय में संबद्ध कर दिया है।

जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा जारी निलंबित आदेश में वार्डन पर छात्रावास से बाहर शिक्षक कमल गहतोड़ी के लिए छात्राओं से खाना भिजवाने, आवासीय विद्यालय के नियमों का उल्लंघन पर अपने भतीजे को छात्रावास में रखने, उसके द्वारा छात्राओं से छेड़खानी करने, कार्यकाल पूरा होने के बाद भी छात्रावास की सेवा न छोड़ने, शिकायत करने वाली छात्राओं को छात्रावास से अलग रखने और छात्राओं के भविष्य एवं छात्रावास की गरिमा के विपरीत कार्य करने का आरोप तय किया गया है।

निलंबन आदेश में कहा गया है कि जिलाधिकारी द्वारा कराई गई जांच के साथ ही मंडलीय अपर शिक्षा निदेशक कुमाऊं मंडल नैनीताल द्वारा की गई जांच में भी छात्राओं के उत्पीड़न की शिकायत को सही पाया गया है। बता दें कि छात्राओं के उत्पीड़न की शिकायत का यह मामला गत वर्ष खासा सुर्खियों में रहा था।

प्रेमा ठाकुर नई वार्डन नियुक्त
छात्राओं के उत्पीड़न की आरोपी वार्डन के निलंबन के बाद शिक्षिका प्रेमा ठाकुर को छात्रावास का नया वॉर्डन बनाया गया है। जिला शिक्षा अधिकारी यशवंत सिंह चौधरी ने बताया कि नवनियुक्त वॉर्डन को कार्यभार ग्रहण करा दिया गया है।
Courtesy: अमर उजाला



See More

 
Top