.

.

uttarakhandnews1.com



देहरादून : 4 अगस्त, 2015

रुद्रप्रयाग जिले में सैनिक स्कूल खोलने के प्रस्ताव को केंद्र से स्वीकृति मिलने के बावजूद उत्तराखंड सरकार द्वारा प्रक्रिया पूरी करने में अनावश्यक देरी किये जाने का आरोप लगाते हुए वरिष्ठ बीजेपी नेता भुवनचंद्र खंडूरी ने आज मुख्यमंत्री हरीश रावत से इस संबंध में स्वयं व्यक्तिगत रुचि लेने का आग्रह किया है। पौडी गढ़वाल से लोकसभा सांसद और संसद की रक्षा सम्बन्धी स्थायी समिति के सभापति खंडूरी ने इस संबंध में रावत को लिखे एक पत्र में कहा कि पहले भी वह उनका ध्यान इस ओर दिला चुके हैं, लेकिन अब तक उस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री खंडूरी ने कहा कि उन्होंने 8 माह पहले पिछले साल 18 दिसम्बर को भी इस विषय में रावत को पत्र लिखकर रुद्रप्रयाग में सैनिक स्कूल खोले जाने की प्रक्रिया में हो रहे अनावश्यक देरी पर उनका ध्यान दिलाया था। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री रावत ने जनवरी में उन्हें आश्वासन दिया था कि रुद्रप्रयाग में स्वीकृत सैनिक स्कूल का कार्य आगे बढ़ाने हेतु केंद्र सरकार को जल्द अनुबंध भिजवाया जायेगा लेकिन यह अनुबंध आज तक नहीं हो पाया।

खंडूरी ने याद दिलाया कि उनके द्वारा 25 जुलाई को संसद में मुद्दा उठाये जाने के बाद केंद्रीय रक्षा मंत्री ने रुद्रप्रयाग में सैनिक स्कूल खोलने की सैध्दांतिक सहमति प्रदान की थी।

उन्होंने कहा कि समय-समय पर रक्षा मंत्रालय द्वारा भी उत्तराखण्ड शासन को अनुबंध करने हेतु अनुरोध किया जा चुका है किन्तु उसने अभी तक इस दिशा में कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाया है। खंडूरी ने मुख्यमंत्री रावत से आग्रह किया है कि राज्य हितों के मद्देनजर इस मामले में अपनी व्यक्तिगत रुचि लें और अनुबंध पत्र पर हस्ताक्षर कर रक्षा मंत्रालय को भेजें। पौडी के सांसद ने यह भी कहा कि कांग्रेस द्वारा समय-समय पर केंद्र सरकार का सहयोग न करने का आरोप लगाया जाता है जबकि वास्तविकता इससे भिन्न है।
Courtesy: नवभारत टाइम्स


See More

 
Top