.

.

uttarakhandnews1.com





 ऊधम सिंह नगर: 1 अगस्त, 2015

जैसा कि आप को ज्ञात है नगर निगम काशीपुर के ग्राउण्ड से संडे बाजार को हटाने के लिए कुछ लोग हाईप्रोफाइल ड्रामा कर रहे है । कह रहे है कि संडे बाजार मे वयापारियों के वेश मे बदमाश आते है । सलेंडर फटते है । भीड होती है । चोरी होती है । इस लिए संडे बाजार को हटाया जाए, और मधुबननगर मे लगाया जाए ।
--मधुबन नगर मे संडे बाजार को लगाने से उपरोक्त सभी काम नही होंगे, क्या इसकी जिम्मेदारी संडे बाजार को हटाने की मांग करने वाले लोग लेंगे ?
--यदि संडे बाजार मे वयापारियों के वेश मे बदमाश आते है । सलेंडर फटते है । भीड होती है । चोरी होती है । तो बाजार को मधुबन नगर मे क्यों भेजना चाहते है । क्या यहां इंसान नहीं रहते ? क्या यहां की जिम्मेदारी इन जन प्रतिनिधियों की नहीं है ?
--दूसरी बात नगर निगम काशीपुर के जिस ग्राउण्ड मे साप्ताहिक संडे बाजार लगता है । उस ग्राउण्ड का क्षेत्रफल लगभग 30000 वर्गफीट है । तब वहां बहुत भीड महसूस होती है, और मधुबननगर पार्क, जंहा पर संडे बाजार को शिफ्ट करने की मांग की जा रही है, का क्षेत्रफल लगभग 8000 फीट है,क्या वहां पर संडे बाजार लगाने से भीड कम हो जाएगी ?
आप ही बताइए कि वहां पर व्यवस्था बिगडेगी या सुधरेगी ?
--अगर संडे बाजार मे व्यापारियों के रूप मे बदमाश आते है,तो मधुबन नगर मे संडे बाजार लगाने से बदमाश आना बंद हो जाएंगे क्या ?
--नगर निगम काशीपुर के ग्राउण्ड मे लगने वाले संडे बाजार मे कोई भी असमाजिक तत्व कोई भी अपराध करने से पहले कई बार सोचता होगा,
क्योंकि निगम के ग्राउण्ड के दोनो ओर मुख्य बाजार है, और वहाँ से कोतवाली भी पास मे ही है । उसको यह डर तो रहता ही है, कि मै पकडा जाऊंगा ।
मगर किसी भी असमाजिक तत्व को मधुबननगर मे अपराध करने के बाद कोई भैय नहीँ होगा , क्योंकि वहां पर न तो कोई कोतवाली है न ही कोई चौकी दूसरा बाजार मे अपराध करके भागने के दर्जनों रास्ते हैं ।
--नगर निगम के ग्राउण्ड के पास शौचालय की पूर्ण व्यावसथा है । मधुबननगर मे कोई भी व्यवस्था नही है , जिसके कारण बाजार के व्यापारियों को आने वाले खरीददारों को बहुत दिक्कते आएंगी । तथा उचित स्थान न मिलने पर जगह जगह गंदगी होगी और बीमारियों का बोलबाला होगा ।
हमारे माननीय जनप्रितिनिधियों से अनुरोध है कि संडे बाजार को हटाने के लिए इतनी राजनीति न करें ।
अपने राजनीतिक लाभ के लिए साम्प्रदाइक्ता का जहर न घोलें ।
हमारा प्यारा काशीपुर साम्प्रदाइक सौहार्द का प्रतीक है । यह न कभी बटा है और न ही कभी बटने देंगे ।
मेरी प्रशासन से भी अपील है कि कम से कम 6 माह तक संडे बाजार को नगर निगम काशीपुर के ग्राउण्ड मे ही लगा रहने दिया जाए । इस बीच कोई न कोई हल जरूर निकाल लिया जाएगा ।
अब्दुल कादिर
पार्षद, नेता कांग्रेस पार्षद दल
नगर निगम काशीपुर उत्तराखण्ड


See More

 
Top