.

.






#uttarakhandnews
देहरादून: 13 अगस्त, 2015

केंद्र सरकार पर राज्य की उपेक्षा लगाते हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने नई दिल्ली में गुरुवार को पूर्व मुख्यमंत्री व हरिद्वार सांसद रमेश पोखरियाल निशंक के आवास का घेराव किया।
प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से 'उत्तराखंड का हक दो, उत्तराखंड को न्याय दो' आंदोलन के पहले चरण में गुरुवार को नई दिल्ली में हरिद्वार और देहरादून की महानगर इकाइयों के पदाधिकारी और वरिष्ठ नेता हरिद्वार सांसद रमेश पोखरियाल निशंक के आवास पहुंचे। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सांसद आवास पर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों का कहना था कि प्रदेश के भाजपा सांसद केंद्र सरकार के उपेक्षापूर्ण रवैये को खत्म करने को दबाव नहीं बना पाए हैं। राज्य हित के कई मामले केंद्र में लंबित हैं। केंद्र की पिछली सरकारों ने राज्य के हितों की रक्षा में कसर नहीं छोड़ी। वहीं केंद्र की मौजूदा सरकार राज्य पर कुठाराघात कर रही है। केंद्रीय मदद में कटौती की गई है, जबकि कई योजनाओं पर चुप्पी साधी गई है। प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने गिरफ्तार भी किया, लेकिन कुछ देर बाद छोड़ दिया।
प्रदर्शनकारियों में उत्तराखंड आंदोलनकारी सम्मान परिषद उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप, आपदा प्रबंधन सलाहकार समिति उपाध्यक्ष विजय सारस्वत, सुनील गुलाटी, शिल्पी अरोड़ा, ब्रिजमोहन उप्रेती, देहरादून महानगर अध्यक्ष पृथ्वीराज चौहान, हरिद्वार महानगर अध्यक्ष ओपी चौहान, नवीन जोशी शामिल थे। उधर, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने कहा कि पार्टी का प्रतिनिधिमंडल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात करेगा। पार्टी राज्य के लंबित मसलों के जल्द निस्तारण, केंद्रीय मदद में कटौती बंद करने समेत तमाम मसलों को उठाएगी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के आगामी बजट सत्र में राज्य की अनदेखी दूर करने के लिए कदम नहीं उठाए गए तो केंद्रीय मंत्रियों और भाजपा सांसदों का उत्तराखंड आगमन पर विरोध किया जाएगा। फिलहाल मुख्यमंत्री हरीश रावत के रुख को देखते हुए केंद्रीय मंत्रियों का विरोध-प्रदर्शन नहीं किया जाएगा।
Courtesy: जागरण



See More

 
Top