.

.






सितारगंज   : 12 नवंबर  , 2015

ऊधमसिंह नगर के सितारगंज में छत पर पटाखे फोड़ने को लेकर दो पड़ोसियों के बीच शुरु हुआ झगड़ा इतना बड़ गया कि एक आदमी की हत्या कर दी गई। 

छत पर पटाखे फोड़ने को लेकर पड़ोसी आपस में भिड़ गए। इस दौरान पिता-पुत्रों ने अपने पड़ोसी सिर पर कांपा मारकर उसकी हत्या कर दी। मारपीट में अधेड़ के दो बेटे भी घायल हो गए।

इस मारपीट में हमलावर पक्ष के भी एक युवक को चोट लगी है। पुलिस ने चारों हमलावरों के खिलाफ हत्या समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज कर तीन को हिरासत में लिया है जबकि एक आरोपी फरार है।

दिवाली की रात सारा शहर पटाखों की आवाज से गूंज रहा था। वहीं, रात करीब नौ बजे शहर से सटे इंदिरानगर नकहा गांव में अजय कुमार और संजय कुमार से पड़ोसी जनार्दन प्रसाद (50) में छत पर पटाखे जलाने को लेकर मारपीट हो गई। आरोप है कि अजय और संजय ने अपने पिता सुदर्शन गुप्ता और भाई विजय कुमार को छत पर बुला लिया।

कांपे, सरिया और डंडे से किया वार

छत पर बुलाने के बाद सुदर्शन और विजय कांपा लेकर छत पर आए और सुदर्शन ने कांपे से जनार्दन के सिर पर वार करने के बाद उसे छत से नीचे फेंक दिया। इससे जनार्दन गंभीर रूप से घायल हो गया।

छत पर ही अपने पिता जनार्दन को बचाने की कोशिश कर रहे उसके पुत्र चंदन और उमेश पर भी चारों ने कांपे, सरिया और डंडे से वार कर दिया। जान बचाकर घर में आए दोनों भाइयों को हत्यारोपियों ने घर में घुसकर धारदार हथियार और डंडे से मारा पीटा, जिससे चंदन के सिर और चेहरे में तो उमेश के बाएं हाथ में चोट लगी।

दोनों घायल हो गए। तीनों को सीएचसी लाया गया। चिकित्साधिकारी डॉ. हर्ष सिंह ऐरी ने जनार्दन को मृत घोषित कर दिया। इधर, हत्यारोपी विजय कुमार के भी सिर में चोट लगी है। पुलिस ने चंदन की तहरीर पर पिता सुदर्शन, बेटा अजय, संजय और विजय के खिलाफ आईपीसी की धारा 302, 323 और 34 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया।

कोतवाल चंद्र सिंह बिष्ट ने बताया कि हत्यारोपी सुदर्शन, अजय और विजय को बृहस्पतिवार की दोपहर मुखबिर की सूचना पर कंठगिरि तिराहा से गिरफ्तार कर लिया गया है। ये तीनों यूपी के बॉर्डर से होते हुए कहीं बाहर भागने की फिराक में थे। फरार हत्यारोपी संजय की गिरफ्तारी के लिए भी दबिश दी जा रही है।
Courtesy: अमर उजाला


See More

 
Top