.

.






देहरादून: 8 दिसंबर , 2015
आज म्यारा उत्तराखण्डियो कु समझ मा नि आणू चा, उत्तराखण्ड कु सभी पैसा डुट्याल लिजाणू छा।।
क्वाद छुंगरू अब कुई नी खाणू चा, परदेश जाकी बण्यू का भांडा मूजाणू चा।।
छुछा तै परदेश छोडी की घार मा आ दी। खेतीपाती कैरी और राजा बणी की रिया दी।।
शर्म आणी आज अपुर उत्तराखण्ड देखी की, सब चल गी परदेश कुडी फुंगडी बंझै की।।
फुंगडु मा जम्यू मलसू, छानियो मा लग्या छन जाला। 
पिछने बटै कुडी खन्दवार हुया छन, अगने लग्या छन ताला।


See More

 
Top