.

.




देहरादून : 7 जनवरी  , 2016
देहरादून। उत्तराखंड पुलिस के 279 सिपाहियों का दारोगा बनने का ख्वाब पूरा हो गया है। उत्तराखंड पुलिस की रैंकर्स भर्ती परीक्षा का परिणाम आज दोपहर पुलिस की वेबसाइट पर जारी कर दिया गया। हालांकि, पुलिस मुख्यालय ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि परीक्षा का परिणाम उच्च न्यायालय के अंतिम आदेशों के अधीन रहेगा। 

परीक्षा परिणाम जारी होने के तुरंत बाद पुलिस मुख्यालय की ओर से सभी चयनित दारोगाओं को कल दोपहर तक पीटीसी (पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज) नरेन्द्रनगर पहुंचने का फरमान जारी कर दिया गया। डीजीपी बीएस सिद्धू ने बताया कि हरिद्वार अर्द्धकुंभ मेले में सिपाहियों की ड्यूटी लगी होने की वजह से चयनित अभ्यर्थियों को कल ज्वाइनिंग के आदेश दिए गए हैं, ताकि वे प्रशिक्षण के तौर पर अर्द्धकुंभ ड्यूटी का हिस्सा बन सकें।

बता दें कि, पुलिस रैंकर्स भर्ती परीक्षा एक मार्च 2015 को संपन्न हुई थी। दारोगा के 304 पदों के सापेक्ष हुई परीक्षा में 279 पद नागरिक पुलिस, जबकि शेष 25 पद पीएसी, आइआरबी व जनपदों की विभिन्न शाखाओं में तैनात कर्मियों के लिए आरक्षित कर दिए गए थे। इसके बाद नागरिक पुलिस के कुछ सिपाहियों ने उच्च न्यायालय में अपील दाखिल कर आरक्षित 25 पदों पर ऐतराज जताया। जिस पर परीक्षा का परिणाम अटक गया। इस मसले पर उच्च न्यायालय ने पुलिस मुख्यालय को कुछ बिंदुओं पर क्लीन-चिट दे दी तो पुलिस मुख्यालय ने भी तुरंत 279 पदों के लिए परिणाम आज दोपहर जारी कर दिया। 

अब 25 पदों पर टिकी निगाह

279 पदों का परिणाम जारी होने के बाद अब पुलिस मुख्यालय की निगाह शेष 25 पदों पर टिकी है। डीजीपी सिद्धू ने बताया कि यदि उच्च न्यायालय का फैसला रिजर्व पुलिस यानी पीएसी-आइआरबी के पक्ष में आता है तो उन्हें भी प्रशिक्षण के लिए भेज दिया जाएगा। फैसला नागरिक पुलिस के पक्ष में आता है तो फिर प्रतीक्षा सूची के आधार पर 25 सिपाहियों का चयन होगा। 

दिनभर चलती रही कशमकश
दारोगा रैंकर्स भर्ती परीक्षा के परिणाम को लेकर आज पुलिस मुख्यालय में भी कशमकश चलती रही। सुबह से चर्चा होती रही कि परिणाम जल्द वेबसाइट पर घोषित होने वाले हैं। इससे अभ्यर्थियों की धड़कनें भी तेज हो गईं। दोपहर करीब 12 बजे वेबसाइट पर परिणाम जारी होते ही मुख्यालय का सर्वर हैंग हो गया। इस पर दून में तैनात कई सिपाही परिणाम जानने के लिए पुलिस मुख्यालय ही पहुंच गए। जागरण


See More

 
Top