.

.



ऋषिकेश : 14 जनवरी  , 2016
मैगी खोने के लिए हुए झगड़ें में दो भाई इस कदर बौखला गए कि वह बीच बचाव करने आई अपनी मां को ही भूल गए। दोनों आपसी विवाद छोड़कर मां पर टूट पड़े और पीट-पीटकर उसे मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने महिला का शव घर के समीप खेत से बरामद किया है। बताया जा रहा है कि दोनों भाई जन्म से ही मानसिक रूप से विक्षिप्त हैं। पुलिस ने पड़ोसी की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर दोनों को गिरफ्तार कर लिया है।

घटना रानीपोखरी क्षेत्र में घमंडपुर मार्ग पर स्थित दुनाली गांव की है। यहां वृद्धा मंजू सक्सेना (70 वर्ष) दो विक्षिप्त बेटे अर्जुन और अतुल के साथ रहती थी। दो दिन पहले ग्रामीणों ने मंजू का शव घर के पास खेत में पड़ा देख पुलिस को सूचना दी। पुलिस अधीक्षक ग्रामीण डॉ. टीडी वैला ने बताया कि महिला के शरीर पर चोट के निशान थे। जांच में पता चला कि मंजू सक्सेना के दोनों बेटे उससे अक्सर झगड़ा करते रहते थे। इस आधार पर पुलिस ने दोनों बेटों से पूछताछ शुरू की। 

वैला के अनुसार दोनों भाइयों ने सिर्फ इतना बताया कि 10 जनवरी को दोनों के बीच झगड़ा हुआ था। इस पर मां बीच-बचाव करने लगी। इससे आक्रोशित होकर दोनों मां से मारपीट करने लगे। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि संभवत: इसी मारपीट में बुजुर्ग महिला की मौत हो गई। प्रथम दृष्ट्या मामला गैर इरादतन हत्या का प्रतीत हुआ तो पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर दोनों भाइयों को गिरफ्तार कर लिया। 

झगड़े का स्पष्ट कारण भी अभी पुलिस को पता नहीं चला है। हालांकि, बताया जा रहा है कि घटना की रात घर में मैगी बनी थी, जिसे खाने को लेकर दोनों भाइयों में झगड़ा हुआ था। इधर, अभी इस बात का पता नहीं चल पाया है कि शव खेत में कैसे पहुंचा। दोनों आरोपियों को न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। जागरण



See More

 
Top