.

.




हरिद्वार : 10 जनवरी  , 2016
इटली के लोग भी हरिद्वार में चल रहे अर्द्धकुंभ और उत्तराखंड की सांस्कृतिक विरासत का नजारा देखेंगे। फरवरी में इटली से एक तीन सदस्यीय दल हरिद्वार पहुंच रहा है। यह दल हर की पैड़ी समेत मेला क्षेत्र का भ्रमण करेगा और डाक्यूमेंट्री शूट करेगा। जिसे इटली में जाकर लोगों को दिखाया जाएगा। इसके साथ ही दल गंगा स्नान, हरिद्वार के मठ-मंदिरों व संत महात्माओं के दर्शन करेगा और उनके अनुभव साथ ले जाएगा। दल ने पर्यटन विभाग के माध्यम से मेला प्रशासन से इसकी अनुमति मांगी है। उप मेला अधिकारी दीपक सिंह नेगी ने बताया कि इटली के मि.ओरेस्टी फेर्रीटी, मि.ओडेट्टा क्रैनी व मि.क्लाउड टूटी का अनुमति के लिए आवेदन आया है। बताया कि पुलिस प्रशासन की संस्तुति के बाद अनुमति पर विचार किया जाएगा। 


इंटरनेट से मिली मेले की जानकारी
इटली के दल को हरिद्वार अर्द्धकुंभ की जानकारी इंटरनेट से मिली है। इसे मुख्यमंत्री हरीश रावत के प्रयासों का नतीजा ही मान सकते हैं। कारण यह है कि चार जनवरी को हरिद्वार पहुंचे सीएम ने मेले के लिए वेबसाइट लॉच की थी, जिसे पर्यटन विभाग की वेबसाइट से जोड़ा गया था। इटली के दल को इसी वेबसाइट के जरिए जानकारियां मिली और उन्होंने मेले में आने के लिए आवेदन किया। उत्तराखंड की संस्कृति का भी होगा संगम

हरिद्वार। चार माह तक चलने वाले अर्द्धकुंभ में उत्तराखंड की लोकसंस्कृति की भी स्नानार्थी व सैलानी देख सकेंगे। मेला प्रशासन ने राज्य की लोक परम्पराओं पर आधारित कार्यक्रम की रुपरेखा बनाने की जिम्मेदारी संस्कृति विभाग को दी है। मेला प्रशासन का उद्देश्य है कि देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालु स्नान के बाद यहां रुकें और यहां के दर्शनीय व पर्यटन स्थलों की सैर कर उत्तराखंड में आने का सुखद अहसास लेकर लौटें | जागरण



See More

 
Top