.

.





देहरादून: 28 जनवरी  , 2016
अर्धकुंभ में धमाका करने के मंसूबे पाले पकड़े गए आतंकियों से हर दिन नए खुलासे हो रहे हैं। ताजा खुलासे के अनुसार इन आतंकियों को दून में भी आइएस के एजेंट ने 60 हजार रुपए की दूसरी खेप उपलब्ध कराई थी। इससे पहले रुड़की में मोहिसन ने 50 हजार रुपए की रकम उपलब्ध कराई थी। इस खुलासे के बाद आइबी टीम आइएस से जुड़े दून के इस संदिग्ध आतंकी की भी तलाश कर रही है।

रुड़की से पकड़े गए चार संदिग्ध आतंकियों को अर्धकुंभ में धमाका करने के लिए आईएस की तरफ से 50 हजार रुपए दिए गए थे। संदिग्ध आतंकियों को यह रकम मुजफ्फरनगर के मोहिसन ने उपलब्ध कराई थी। सूत्रों की मानें तो आइबी की संदिग्धों से की गई पूछताछ में कुछ और नाम भी सामने आए हैं। 

सूत्रों की मानें तो आतंकी संगठन आइएस से जुड़े एक संदिग्ध ने आरोपियों के पकड़े जाने से कुछ समय पहले उन्हें 60 हजार रुपए की रकम देहरादून में उपलब्ध कराई थी। जिस संदिग्ध ने यह रकम उपलब्ध कराई थी वह आरोपी देहरादून का ही रहने वाला है। यह रकम सीरिया में बैठे आइएस के सरगना के कहने पर उपलब्ध हुई थी।

आइबी और एनआइए की टीम अब दून के इस संदिग्ध आरोपी की तलाश में लगी है। पुलिस के एक अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की है। इसके अलावा भी संदिग्ध आतंकियों को कितनी रकम आइएस की तरफ से मिली थी इसकी भी जांच चल रही है। 


देहरादून से खरीदा गया था सिम

पकड़े गए संदिग्ध आतंकियों से की गई पूछताछ में कई अहम बातें सामने आ रही हैं। सूत्रों की माने तो आरोपियों ने धमाका करने के लिए देहरादून से भी एक सिम खरीदा था। यह सिम किस दुकानदार से खरीदा गया था इस बारे में आइबी की पूछताछ चल रही है। सूत्रों की माने तो शीघ्र ही एक टीम आरोपियों को सिम बेचने वाले दुकानदार से भी पूछताछ कर सकती है। जागरण


See More

 
Top