.

.



देहरादून : 7 जनवरी  , 2016
रुड़की। परिवार के संकट को टालने के लिए सरेराह एक महिला ठगी की शिकार हो गई। ठगों ने झांसा देकर उससे सोने के कुंडल व नगदी ले उड़े। 
हुआ यूं कि रामनगर गली गली नंबर चार में रहने वाली 63 वर्षीय शांती देवी बीएसएम तिराहे के पास निरंकारी भवन में प्रवचन सुनने गई थी। दोपहर वह प्रवचन सुनकर घर लौट रही थी। 

करीब सवा एक बजे बीएसएम तिराहे के पास दो युवक उसे मिले। इनमें से एक ने उससे किसी चिकित्सक का नाम लेकर पता पूछा। इस पर महिला ने कहा कि वह नहीं जानती है।
इसके बाद एक युवक ने कहा कि आंटी मेरी बात का बुरा तो नहीं मानोगी, आपके परिवार में इन दिनों संकट चल रहा है। इसे सुनकर महिला घबरा गई। इस पर युवक ने उसे बताया कि वह राम नाम का जप करते हुए 21 कदम आगे जाए और फिर उल्टे वापस आए।  इन युवकों के झांसे में आकर महिला राम नाम का जप करते हुए 

आगे बढ़ने लगी। तभी उनमें से युवक ने टोका कि अनर्थ हो रहा है। कान के कुंडल उतारकर चलना था। उसने महिला से कुंडल मांगे। साथ ही दूसरे युवक ने उसका पर्स भी ले लिया। इसके बाद महिला जप करते हुए जब 21 कदम बाद वापस मुड़ी तब तक दोनों युवक फरार हो गए।   

ठगी का अहसान होने पर महिला गंगनहर कोतवाली पहुची। उसने पुलिस को बताया कि युवक कुंडल के साथ उसका पर्स भी ले गए। इसमें करीब दो हजार की नगदी थी। बदमाशों की तलाश में पुलिस ने आसपास के सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले, लेकिन उनका कोई पता नहीं चल सका। जागरण


See More

 
Top