.

.




पौड़ी : 17 जनवरी  , 2016

उसकी शक्ल भालू से मिलती-जुलती है। कद भैंस से भी बड़ा। कभी वो दो पैरों के बल चलता है तो कभी चारों पैरों से सरपट बीहड़ जंगल में भाग जाता है। खूंखार सा दिखने वाले इस जानवर ने पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल खड़ा किया है। सबकी जुबान पर एक ही सवाल है कि आखिर यह है कौन।

इन दिनों पौड़ी जिले के यमकेश्वर ब्लॉक में इस अजीबो-गरीब जानवर का आतंक छाया हुआ है। स्थानीय लोगों ने पहली बार इस किस्म का जानवर देखा है। आखिर यह जानवर है कौन, इसे लेकर वन विभाग भी पशोपेश में है।  यह जानवर अभी तक दो दर्जन मवेशियों को मार चुका है। 

रहस्यमय जानवर इतना बलशाली है कि पक्की गोशाला की दीवार या छत को तोड़कर जानवरों को मौत के घाट उतार रहा है। यह जानवर यमकेश्वर के तीन न्याय पंचायतों नीलकंठ, नौगांव व मागथा में दो दर्जन पशुओं को मार चुका है।<

पशुओं को मारने का इसका तरीका गुलदार या भालू से पूरी तरह से भिन्न है। यह मवेशियों के कंधों पर चढ़कर वार उन्हें मारता है। कल भी उसने गोशाल तोड़कर मवेशियों को शिकार बनाया।  जागरण


See More

 
Top