.

.




देहरादून : 20 जनवरी  , 2016
एंड्रॉएड ऐप पर उत्तराखंड समाचार पढ़ने के लिए क्लिक करें

टिहरी जनपद के मसूरी और कैंपटी क्षेत्र में एक महिला फर्जी जज बनकर घूम रही थी। यहीं नहीं बाकायदा उसकी कार पर लाल बत्ती लगाई गई थी। महिला ने जज होने का पूरा रुबाब दिखाने की कोशिश की, मगर झूठ भला कब तक छिप सकता है। आखिरकार महिला का भेद खुला और वह सलाखों के पीछे पहुंच गई। 

दरअसल, फर्जी महिला जज बनी पूजा ठकर ने बीते रोज मसूरी के डीएफओ धीरजमणि पांडेय को फोन किया था। 

महिला ने कहा कि वह जज है और उसे कैंपटी गेस्ट हाउस में कमरा चाहिए। डीएफओ ने भी महिला के लिए कमरे की व्यवस्था कर दी। आज सुबह जब महिला से डीएफओ ने बातचीत की तो उन्हें उसके जज नहीं होने का सह हो गया। 

छानबीन करने पर महिला का भेद खुल गया। इसपर डीएफओ ने पांडेय ने महिला के खिलाफ कैंपटी थाने में तहरीर दी गई। पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए उसके कैंपटी से गिरफ्तार कर दिया। एसओ डीएम बलूनी ने बताया कि महिला से उसके फर्जी जज बनने के कारणों की पूछताछ की जा रही है। बताया कि बृहस्पतिवार को उसके न्यायालय में पेश किया जाएगा। जागरण


See More

 
Top