.

.





देहरादून :21 फरवरी, 2016

उत्तराखंड के 300 जूनियर हाईस्कूलों पर बंदी की तलवार लटक गई है। शासन के नए नियम से इन पर ताला लग जाएगा। प्रदेश के 10 से कम छात्र संख्या वाले जूनियर हाईस्कूलों को बंद कर दिया जाएगा। इन स्कूलों के भवनों में हाईस्कूल संचालित किए जाएंगे। इन स्कूलों के शिक्षकों और विद्यार्थियों को अन्य विद्यालयों में समायोजित किया जाएगा।

इस संबंध में शासन की ओर से शिक्षा निदेशालय से प्रस्ताव मांगा गया है। यदि ऐसा हुआ तो प्रदेश के तकरीबन 300 जूनियर हाईस्कूल बंद हो सकते हैं। स्कूल बंद होने से 1000 से अधिक शिक्षक प्रभावित होंगे। यही वजह है कि शासन के इस फैसले की भनक लगते ही शिक्षक आंदोलन की तैयारी में जुट गए हैं।

राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के तहत प्रदेश में 750 से अधिक जूनियर हाईस्कूलों को हाईस्कूल के रूप में उच्चीकृत किया गया है। उच्चीकृत हुए इन स्कूलों में जूनियर हाईस्कूल और हाईस्कूल दोनों संचालित किए जा रहे हैं, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। अब दस से कम छात्र संख्या वाले जूनियर हाईस्कूलों में हाईस्कूल ही संचालित किये जाएंगे। जबकि इससे अधिक छात्रों वाले जूनियर हाईस्कूलों में चल रहे हाईस्कूलों को अलग कर दिया जाएगा | अमर उजाला


See More

 
Top