.

.




टिहरी: 26 फरवरी , 2016
ऋषिकेश। चाचा के साथ रह रहे एक किशोर का शव संदिग्ध परिस्थितियो में छत की सरिया के सहारे फंदे से लटका मिला। आत्महत्या कारण अभी ज्ञात नहीं हो सका है। 

जानकारी के मुताबिक मूल रूप से चांदपुर जौनपुर निवासी परशुराम ऋषिकेश में किसी की कार चलाता है। वह चंद्रभागा मार्ग स्थित किराए के मकान में रहता है। परशुराम के साथ उसका भतीजा 15 वर्षीय कन्हैया भी यहाँ पिछले चार माह से रह रहा था

गत सुबह करीब नौ बजे परशुराम कार लेकर कहीं बाहर चला गया था। आज सुबह 10 बजे जब वह घर लौटा तो मकान का मुख्य दरवाजा बंद मिला। इस पर परशुराम में पड़ोस की छत से जाकर जब भीतर झांका तो भतीजा कन्हैया फांसी से लटका मिला। 

सूचना पाकर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और किसी तरह मुख्य गेट का दरवाजा तोड़कर द्वितीय तल में बने कमरे में पहुंची। यहां छत की सरिए से फांसी लगाकर कन्हैया का शव  झूल रहा था। 

कमरे की तलाशी पर पुलिस को कुछ भी संदिग्ध वस्तु नहीं मिली। पुलिस के मुताबिक मृतक के हाथ पीछे की ओर बंधे हुए थे। इससे यह मामला संदिग्ध प्रतीत हो रहा है। हालांकि जिस दरवाजे को तोड़कर पुलिस भीतर घुसी उसकी चाबी कन्हैया के पास ही थी। 

इसके अलावा घर में प्रवेश करने का कोई और रास्ता नहीं है।  फिलहाल पुलिस ने शव को कब्जे में ले कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मामले की जाँच कर रहे उप निरीक्षक एम्एस बिष्ट ने बताया की सभी पहलुओं की गंभीरता से जांच की जा रही है।

उन्होंने बताया कि कन्हैया के पिता नागेश राजपूत चांदपुर जौनपुर में भीख मांग कर गुजारा करते हैं। चार माह पूर्व कन्हैया का चाचा उसे अपने साथ यहां ले आया था। जागरण


See More

 
Top