.

.





देहरादून: 19 फरवरी , 2016
अब यह साबित भी हो गया है कि जून 2013 की आपदा से बहुत हद तक उत्तराखंड उबर गया है। अर्थ एवं संख्या निदेशालय की ओर से वर्ष 2011-12 को आधार वर्ष मानते हुए जारी किए गए आंकड़ों से यह जाहिर भी हो रहा है।

ताजा आंकड़ों के मुताबिक प्रदेश की प्रति व्यक्ति आय अब 1.73 लाख रुपये हो गई है और राज्य की विकास दर प्रचलित मूल्य पर 12.63 प्रतिशत है। स्थिर मूल्य पर यह विकास दर 7.65 है जो बेहतर माने जाने वाले दहाई के अंक से कम हैं। हालांकि यह विकास दर आपदा से पहले की राज्य की विकास दर से अब भी कम है। उद्योगों को सहारा मिला है, लेकिन सेवा क्षेत्र है जिसने राज्य के आर्थिक विकास को संभाला हुआ है।

अर्थ एवं संख्या निदेशालय ने पहली बार 2011-12 को आधार वर्ष मानते हुए प्रदेश की आर्थिक स्थिति के अनुमान जारी किए हैं। अभी तक यह अनुमान 2005-2006 को आधार वर्ष मानते हुए जारी किए जा रहे थे। अनुमान के मुताबिक इस समय प्रदेश की विकास दर प्रचलित भाव (महंगाई को शामिल करते हुए) पर 12.63 तक पहुंच गई है। जून 2013 की केदारनाथ आपदा से पहले प्रदेश की विकास दर 14.42 प्रतिशत थी। जाहिर है कि प्रदेश की विकास दर आपदा की पहले की विकास दर से अभी कम है। अमर उजाला



See More

 
Top