.

.



ऋषिकेश  : 03 मार्च , 2016

रास्ते में मिले अनजान युवक के झांसे में आकर एक महिला अपनी किस्मत चमकाने के फेर में पड़ गई। उसकी किस्मत को नहीं चमकी, लेकिन वह सोने के कंगन गंवा बैठी। ठगी का पता चलते ही वह कोतवाली में पहुंची और दो युवकों की शिकायत की। तब तक ठग फरार हो चुके थे।

दोपहर करीब सवा दो बजे तिलक मार्ग ऋषिकेश निवासी मधु धनोट पत्नी स्वर्गीय जगदीश धनोट निवासी हीरालाल मार्ग से तिलक मार्ग की ओर जा रही थी।

रास्ते में उसे एक युवक मिला और खुद को ब्राह्मण बताते हुए उसने महिला को बातों के जाल में उलझाया। युवक ने रास्ते में ही अगरबत्ती जलाई और महिला को सुझाव दिया कि यदि वह  अगरबत्ती लेकर उसके साथ 31 कदम चलेगी तो उसके सारे संकट समाप्त हो जाएंगे।

जब महिला ने ऐसा ही किया तो युवक ने कहा कि वह अपने हाथ का एक कड़ा उतार कर अपने पर्स में रख ले। इस पर महिला ने ऐसा ही किया। तभी युवक ने महिला को वहां मौजूद एक युवक को पर्स पकड़ाने को कहा। 

इसके बाद युवक के पीछे-पीछे महिला 31 कदम तक चली। जब पलटकर वह वापस आई तो दोनों युवक मौके से खिसक चुके थे।  ठगी का शिकार होने पर महिला ने आसपास के लोगों को इसकी जानकारी दी। इस पर स्थानीय युवक ने बाइक से फरार इन युवकों का पीछा भी किया। तब तक दोनों युवक आंखों से ओझल हो चुके थे। 

महिला की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने भी इन युवकों को तलाश करने का प्रयास किया। साथ ही आस-पास के घरों में लगे सीसीटीवी की फुटेज निकलवाई जा रही है। महिला ने पुलिस को बताया कि पर्स में सोने के कड़े के साथ ही कुछ रकम व मोबाइल फोन भी था। जागरण


See More

 
Top