.

.





हरिद्वार : 09 मार्च , 2016

मशहूर ड्रमर शिवमणि की उंगिलयों का जादू आज ऐसा चला कि लोग झूमते-झूमते पसीने से तरबतर हो गए। शास्त्रीय और पाश्चात्य संगीत के फ्यूजन का लाइव मजा ले रहे लोगों के लिए यह एक अद्भूद पल था। वहीं, मशहूर सूफी सिंगर कैलाश खेर ने अपनी प्रस्तुति से सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। मौका था धर्मनगरी हरिद्वार स्थित पंतद्वीप में आयोचित अर्द्धकुंभ योग महाकुंभ में सांस्कृतिक संध्या का। 

कार्यक्रम के दौरान लोगों पर शिवमणि का जादू छाया रहा। शिवमणि ने ड्रम के अलावा पानी का गैलन, सूटकेश, खंजड़ी समेत कई वाद्ययंत्रों को इस तरह बजाया कि लोग हैरान हो गए। हर धुन पर पूरा पंडाल वाह-वाह की आवाज के साथ तालियों की गड़गड़ाहट से गूंजता रहा। 

हरि ओम और ओम नम: शिवाय से शुरू कर मंदिर की घंटी, चिड़ियों की चहचहाहट, रॉक, पॉप, भांगडा, नागिन धुन, आदिवासी नृत्य, बैलों की घुंघरू की आवाज, नवरात्री सांग, साइकिल की घंटी, व्हीसिल के साथ कई प्रकार की आवाजों का ऐसा अहसास कराया कि दर्शक खो से गए। बाद में दर्शकों से लयबद्ध तरीके से तालिया बजवाईं और बच्चों से ड्रम पर जुगलबंदी भी की।

उनकी प्रस्तुति खत्म होने के बाद भी काफी देर तक दर्शक वन्स मोर-वन्स मोर चिल्लाते रहे। इस दौरान बॉलीवुड के मशहूर सूफी सिंगर कैलाश खेर ने पंतदीप के सांस्कृतिक कार्यक्रम में अपने बैंड कैलासा के साथ लाइव परफॉर्मेंस दी। उन्होंने इश्क जुनूं जब हद से आगे बढ़ जाए बम लहरी& रंग दीनी पर शानदार परफॉर्मेंस दी तो पूरा पंडाल तालियों से गूंज उठा।

इसके बाद कैलाश खेर ने आओं साइंया, मैं तो तेरे प्यार में दीवाना हो गया, तेरी दीवानी, सइंया आदि की बेहतरीन प्रस्तुति पर दर्शको झूमने पर मजबूर कर दिया
 अमर उजाला


See More

 
Top