.

.



हरिद्वार : 09 मार्च , 2016

धर्मनगरी हरिद्वार स्थित पंतद्वीप में अर्द्धकुंभ योग महाकुंभ शुरू हो गया है। चार दिन तक चलने वाले इस महोत्सव में तीस देशों के सात सौ से अधिक साधक विभिन्न योगासनों का अभ्यास करेंगें। उद्घाटन मौके पर मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि गंगा के किनारे विकसित होने वाले घाट योग और ध्यान के लिए विशेष आकर्षण का केंद्र रहेंगे। 

उन्होंने कहा कि देवभूमि ने पूरी दुनियां में योग की अलख जगाने का जो बीड़ा उठाया है, उसी के तहत पहले ऋषिकेश और अब हरिद्वार में वृहद योग महोत्सव आयोजिए किए जा रहे हैं। योग का लाभ पूरी दुनियां को मिल सके इसके लिए इन महोत्सव में दुनिया भर से योग साधक पहुंचें हैं।

अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव: मोटापे से हैं परेशान, तो करें यह काम, मिलेगी मोटापे से मुक्ति

उन्होंने कहा कि अर्द्धकुंभ में गंगा, योग और संस्कृति का संगम हुआ है। चंडीघाट से अजीतपुर तक गंगा किनारे घाट को विकसित किया जाएगा। ताकी लोग वहां स्नान के साथ ही योग ध्यान भी कर सकें।


परमार्थ निकेतन ऋषिकेश के परमाध्यक्ष मुनि महाराज स्वामी चिदानंद सरस्वती ने कहा कि योग महाकुंभ में बडी संख्या में लोगों को भाग लेने को प्रेरित किया जा रहा। उन्होंने अर्द्धकुंभ के सफल आयोजन के लिए राज्य सरकार और मुख्यमंत्री हरीश रावत की सराहना भी की।

उन्होंने बताया कि इस बार अर्द्धकुंभ मेला में पहली बार येाग महाकुंभ का आयोजन किया जा रहा है। इसमें विश्वविख्यात योग गुरुओं की ओर से योग की शिक्षा दी जाएगी। योग महाकुंभ कार्यक्रम की शुरूआत प्रसिद्ध ड्रम वादक शिवमणि ने ड्रमवादन की प्रस्तुति से की। अमर उजाला


See More

 
Top