.

.



देहरादून : 10 मार्च , 2016

सेना में ऑनरी प्रमोशन की तर्ज शिक्षकों का किया जाना था प्रमोशन  राष्ट्रीय पुरस्कार लाओ, सेवा विस्तार पाओ, शासनादेश जारी दुर्गम स्कूलों में 20 साल सेवा पर शिक्षकों को सेवा विस्तार का किया था वादा

पहाड़ के दुर्गम स्कूलों में 20 साल की सेवा पर शिक्षकों को मुख्यमंत्री की घोषणा के बावजूद दो साल की सेवा का विस्तार नहीं मिला। शिक्षकों की सेवानिवृत्ति पर एक प्रमोशन पर भी विचार नहीं हुआ।

मुख्यमंत्री ने राजकीय प्रधानाचार्य एसोसिएशन के 19 नवंबर वर्ष 2014 को एमकेपी इंटर कालेज में आयोजित अधिवेशन में बतौर मुख्य अतिथि इसकी घोषणा की थी।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के नौ जनपद ऐसे हैं जहां कोई जाने को तैयार नहीं है। यहां तक की जिलाधिकारियों को भी इन जनपदों में भेजा जाए तो वे भी मुंह बनाने लगते हैं।

मुख्यमंत्री ने सेना में ऑनरी प्रमोशन की तर्ज पर पहाड़ में नौकरी करने वाले शिक्षकों के प्रमोशन पर विचार करने का आश्वासन दिया, लेकिन इस आश्वासन पर एक साल बाद भी अमल नहीं हुआ। 

मुख्यमंत्री की घोषणा के बावजूद इसका शासनादेश नहीं हुआ। कई शिक्षक सेवानिवृत्त हो चुके हैं लेकिन उन्हें पहाड़ में वर्षों की सेवा पूरी करने के बावजूद सेवा विस्तार नहीं मिला। 

उच्चीकृत किए गए जूनियर हाईस्कूलों के अलग संचालन की घोषणा पर भी अमल नहीं हुआ। विरोध में आज मयूर विहार में प्रांतीय कार्यकारिणी की बैठक है। बैठक में आंदोलन की रणनीति तैयार की जाएगी। 
- सुभाष चौहान, प्रदेश अध्यक्ष जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ | अमर उजाला



See More

 
Top