.

.



देहरादून : 06 अप्रैल  , 2016

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पर सरकार गिराने के लिये बीजेपी द्वारा उन्हें 25 करोड़ रुपये दिए जाने संबंधी गलत बयान देने का आरोप लगाते हुए उनके पूर्ववर्ती विजय बहुगुणा ने उन्हें मानहानि नोटिस भेजा है।

अपने वकील राजेश्वर सिंह के माध्यम से दिये गये इस नोटिस में बहुगुणा ने रावत से तीन दिन के अंदर सार्वजनिक रूप से माफी मांगने को कहा है। नोटिस में कहा गया है कि ऐसा न होने की स्थिति में वह उनके खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई करेंगे।

हांलाकि, एक संवाददाता सम्मेलन में इस बारे में पूछे जाने पर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने उन्हें कोई नोटिस मिलने से इंकार किया और कहा कि अगर उन्हें भविष्य में इस तरह को कोई नोटिस मिलता है तो वह उसका मीडिया के जरिये नहीं बल्कि कानूनी तरीके से जवाब देंगे।

नोटिस में कहा गया है, 'आप लगातार बीजेपी और मेरे मुवक्किल के बीच धन के लेन देन से संबंधित झूठे और निराधार आरोप लगा रहे हैं। आप अपने संवाददाता सम्मेलनों और जनसभाओं में आरोप लगा रहे हैं कि बीजेपी द्वारा मेरे मुवक्किल के खातों में 25 करोड रुपये जमा कराये गये हैं।'

इन आरोपों को 'अत्यधिक अपमानजनक और दुर्भावनापूर्ण' बताते हुए नोटिस में कहा गया है कि ये आरोप जानबूझकर बहुगुणा की छवि को नुकसान पहुंचाने के मकसद से लगाये जा रहे हैं। नोटिस में तीन दिनों के भीतर माफी मांगने या कानूनी कार्रवाई को झेलने के लिये तैयार रहने को कहा गया है।मानहानि नोटिस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए बहुगुणा ने कहा, 'पूरे देश ने स्टिंग सीडी में रावत को खुले आम खरीद-फरोख्त करते देखा है। मेरे खिलाफ ऐसे झूठे और निराधार आरोप लगाकर वह केवल अपनी करतूतों से लोगों का ध्यान हटाना चाहते हैं।' नवभारत


See More

 
Top