.

.



देहरादून  : 19 अप्रैल  , 2016

सीधी भर्ती और प्रमोशन वाले एलटी और प्रवक्ता को नियुक्ति की मांग को लेकर राजकीय शिक्षक संघ के प्रांतीय अध्यक्ष राम सिंह चौहान, महामंत्री डॉं सोहन सिंह मॉज़िला समेत पांच शिक्षकों ने आमरण अनशन शुरू कर दिया। शिक्षकों का कहना है कि कुछ राजनीतिक दल स्थायी शिक्षकों के पदों पर अतिथि शिक्षकों को भर्ती कराने का दबाव बना रहे हैं। यह गलत है। इससे एलटी और प्रवक्ता की चयन परीक्षा पास करने वाले 4200 अभ्यर्थियों का भविष्य खतरे में पड़ जाएगा। इसी प्रकार प्रमोशन से एलटी से प्रवक्ता बने शिक्षकों को भी 1431 अपने भविष्य को लेकर शंकाए पैदा हो रही है। लिहाजा सबसे पहले स्थायी शिक्षकों को ही नियुक्ति दी जाय।  जब तक ऐसा न होगा आंदोलन जारी रहेगा। आमरण अनशन पर जीत रमोला, अनिल सेंधवाल, कुलदीप कंडारी भी बैठे है।


दूसरी तरफ, पूर्व सीएम हरीश रावत और पूर्व शिक्षा मंत्री मंत्रीप्रसाद नैथानी अतिथि शिक्षकों को तत्काल पुनर्नियुक्ति की मांग पर अड़ गए है। उन्होंने राज्यपाल से तत्काल कार्रवाई की मांग की है।


चुनाव में सिखाएंगे सबक: 
राजकीय शिक्षक संघ प्रदेश के शिक्षकों का दूसरा बड़ा संगठन है। अध्यक्ष राम सिंह चौहान और महामंत्री डॉं सोहन सिंह मंज़िला ने कहा कि सियासी दल शिक्षकों के हितों से खिलवाड़ न करे। वरना आने वाले चुनाव में उन्हें सबक सिखा दिया जाएगा। शिक्षक बुरे लोगों के लिए शनि देव का अवतार है। हिन्दुस्तान


See More

 
Top