.

.





देहरादून : 06 अप्रैल  , 2016

भारत-वेस्टइंडीज सेमीफइनल मैच में भारत की हार के बाद श्रीनगर के एनआईटी में बनी तनावपूर्ण स्थिति शांत होने के बाद मंगलवार को एक बार फिर बवाल मचा।  जानकारी के अनुसार एनआईटी में पिछले दो दिनों से छात्र अपनी इस मांग पर अड़े हैं कि एमएचआरडी की टीम खुद श्रीनगर आकर स्थिति का जायजा ले। धरने पर बैठे छात्रों में अधिकतर तीसरे सेमेस्टर के छात्र हैं, जिनका यह भी कहना है कि उन्हें यहां अपना भविष्य असुरक्षित लगता है। उसने यह भी बताया कि कुछ छात्रों को तो यहां के फैकल्टी स्टाफ द्वारा यह कहकर भी धमकाया जा रहा है कि जो छात्र प्रदर्शनों में थे, उन्हें बैकलॉग रखा जाएगा।एक अन्य छात्र के अनुसार उनकी आवाज को कैंपस से बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा। ना ही मीडिया को अंदर आने दिया जा रहा। ऐसे वह अपनी मांग कहां रखें। इसलिए जब मंगलवार को हम कैंपस गेट की ओर बढ़े तो हमें आगे नहीं जाने दिया गया। उल्टा हम पर लाठीचार्ज किया गया।  एक दर्जन से अधिक छात्र घायल हुए, जिन्हें एनआईटी के मेडिकल यूनिट में भर्ती किया गया है। एक दर्जन से अधिक छात्र घायल हुए, जिन्हें एनआईटी के मेडिकल यूनिट में भर्ती किया गया है। लाठीचार्ज के दौरान छात्रों को काफी गंभीर चोटें आईं हैं। झड़प में घायल हुए साथी को सुरक्ष‌ित स्थान पर ले जाते हुए छात्र | छात्रों खासकर तीसरे सेमेस्टर के छात्रों को डर है कि कहीं वह इस सब में फंस न जाएं। इसलिए वह अपने साथ बाकी छात्रों को लेकर धरने पर बैठे थे।   अमर उजाला


See More

 
Top