.

.



पर्वतों की रानी मसूरी मै उत्तराखंड के वीर भड़ माधो सिंह भंडारी गढ़वाली नाट्क का पर्वतीय बिगुल संस्था के तत्वाधान मै स्थानीय शगुन वेडिंग पोइंट मै सफल मंचन किया गया, जिसमें उदीनागढ़ की राजकुमारी की भूमिका मेंने निभाई ,ये मेरे जीवन की अब तक नाट्य क्षेत्र की चुनौतीपूर्ण भूमिका थी |





ज्ञात हो की 16वीं शताब्दी मै गढ़ नरेश महिपती शाह के सेनापति माधो सिंह भंडारी नें तीब्बत्ती लुटेरों से अपने गढ़ राज्य की रक्षा की तथा मलेथा की असिंचित भूमि के लिये पहाड़ काट कर सिंचित करने का इतिहासिक कार्य किया जिसमें उन्होंने अपने पुत्र गजे सिंह की बलि दें कर अपने पुत्र को न्यौछावर कर दिया |

इस संगीतमय नाटिका मै अवसर प्रदान करने बिगुल संस्था के अध्यक्ष श्री प्रदीप भंडारी जी का आभार व्यक्त करते हुए ऊन तमाम तमाम दर्शकों की भी आभारी हूँ जिन्होंने मेरे अभिनय की सराहना कर मुझे प्रोत्साहित करने का कार्य किया |


See More

 
Top