.

.





नई टिहरी, 17 जुलाई 2016।

ऋषिकेश-गंगोत्री नेशनल हाईवे पर नरेंद्रनगर बाइपास के पास भारी भूस्खलन होने से ऋषिकेश से चंबा की ओर से जा रही एक कार मलबे में दब गई। जिसमें सवार चार लोगों की मौके पर दर्दनाक मौत हो गई। पुलिस, बीआरओ, एसडीआरफ और सेना के जवानों ने कार से मलबा हटाकर क्षत-विक्षत फंसे शव बाहर निकाले। भूस्खलन होने से राजमार्ग पूरी तरह से बंद हो गया है। भूधंसाव से खतरे की जद में आए कुम्हारखेड़ा के 250 से अधिक परिवारों को शिफ्ट किया गया है।

एसडीएम नरेंद्रनगर केके मिश्रा ने बताया कि गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर रविवार दोपहर साढ़े बारह बजे भारी बारिश के बीच राजमहल बाइपास के  ऊपरी हिस्से पर भारी भूधंसाव हो गया। जिसका मलबा नरेंद्रनगर बाजार जाने वाले मार्ग पर बीआरओ कैंप के पास से होते हुए नीचे सड़क तक फैल गया। इस दौरान ऋषिकेश से चंबा की ओर जा रही एक कार संख्या यूके 14-5802 ऊपर से आए भारी मलबे और पत्थरों के नीचे दब गई। जिससे कार में सवार वीरेश श्रीकोटी उम्र 32 पुत्र सब्बल सिंह निवासी आशुतोष नगर ऋषिकेश, उमेश रावत उम्र 33 पुत्र भगत सिंह रावत निवासी इंद्रानगर ऋषिकेश, मुकेश गुसाईं उम्र 33 पुत्र सत्य सिंह गुसाईं, निवासी आशुतोष नगर ऋषिकेश और श्याम नौटियाल निवासी तपोवन की दर्दनाक मौत हो गई। गाड़ी मलबे में इस कदर दब गई थी, कि गाड़ी को काटकर शवों के एक-एक टुकड़े बाहर निकाले गए। एक शव को कुत्ते की मदद से निकाला गया। सीओ बिजेंद्र डोभाल, एसओ मो. अमरक, ११ फील्ड रेजिमेंट के ले.कर्नल आरके गुरंग, कै. अमित चौहान, कै. एमएस भुवन, एसडीएम केके मिश्र, एसडीआरएफ के जवानों ने मौके पर पहुंच कर रेस्क्यू कर शव बाहर निकाले। पुलिस ने शवों का पंचनामा भरने के बाद संयुक्त चिकित्सालय नरेंद्रनगर में पोस्टमार्टम कराया है।


See More

 
Top