.

.




पोड़ी : 28 जुलाई 2016 
उत्तराखण्ड का विकास जो कई बच्चों की जिन्दगियों से सौदा करके किया जा रहा है। जिन बच्चों को हम अपना भविष्य कह रहे हैं उनको हम रोज मौत के मुह में धकेलने को मजबूर हैं और जिसके जिम्मेदार पूरी तरह से सरकार है।

बहुत ही दुःख के साथ सूचित करना पड़ रहा है की उत्तराखण्ड के पौड़ी गढ़वाल के थलीसैंण ब्लाक के अंतर्गत मुख्यालय से मात्र 10 किलोमीटर दूरी पर स्थित हाई स्कूल रणगांव की स्थिति आज ऐसी है की छत पर टेक लगाकर विद्यालय चल रहा है बच्चे भय के कारण स्कूल जाने को तैयार नही हैं यह कोई पुराना भवन नही बल्कि कुछ वर्षों पूर्व इसका निर्माण हुआ। लेकिन भवन की गुणवत्ता और जिस मद में यह भवन बना है उसके लिए RTI भी लगाई गई है। माननीय मुख्यमंत्री जी को माननीय विधायक गणेश गोदियाल जी को भी उसकी एक प्रति दी गयी। जिला अधिकारी से लेकर सभी को कई बार जांच के लिए बोला गया लेकिन ग्राम प्रधान को शुरू से ही इन नेताओं की सह मिली हुई है जिनके मिलीभगत से करोड़ों का घोटाला हुआ है जिसकी सम्पूर्ण जानकारी रिपोर्ट में लिखी है। 

बहुत अफशोस होता है जिस राज्य के मुखिया और क्षेत्र का जन प्रतिनिधि ही घोटालों में लिप्त हो उस क्षेत्र का विकास क्या होगा। प्रधान पहले बीजेपी में था तो उस समय भी पूर्व विधायक एवम् मुख्यमंत्री जी की कृपा उन पर थी जब से विधायक कांग्रेस के आये माननीय प्रधान जी घोटालों में फंसने की वजह से कांग्रेस की शरण में चले गए।

मैं इस उत्तराखण्ड के प्रबुद्ध लोगों से विनती करता हूँ की इस प्रकार के जन प्रतिनिधियों के विरुद्ध सच्चाई साबित होने पर उचित कार्यवाही की जाय एवम् सभी घोटालों की सीबीआई जांच हो ताकि जनता को पता चले की हाँ हम किस विकास की ओर जा रहे हैं। विद्यालय में कभी भी कोई दुर्घटना हो सकती है जिसकी जिम्मेदारी प्रशासन की है।  माननीय मुख्यमंत्री जी से निवेदन की इस की निष्पक्ष जांच की जाय। उदय ममगाईं राठी समाजसेवी


See More

 
Top