.

.





देहरादून : 17 अगस्त , 2016


कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल होने के बाद एक बार फिर हरक सिंह रावत ने मुख्यमंत्री हरीश रावत पर हमला बोला है। पहली बार स्वर्गाश्रम पहुंचे पूर्व मंत्री डा. हरक सिंह रावत का भाजपाईयों ने ढोल नगाडों के साथ स्वागत किया।

बारिश के बावजूद हरक के स्वागत के लिए कार्यकर्ताओं का हुजूम उमड़ा रहा। रावत ने प्रदेश सरकार पर जमकर हमला बोला। कहा मुख्यमंत्री के सलाहकारों का काम सिर्फ अवैध खनन, रेत और बजरी से वसूली करने का है। मौके पर एक दर्जन लोगों ने कांग्रेस छोड़कर भाजपा की सदस्यता भी ली।

रामझूला पुल से परमार्थ निकेतन तक भाजपाईयों ने हरक सिंह रावत के समर्थन में रैली निकाली। कार्यकर्ताओं की भीड़ देखकर हरक भी उत्साहित नजर आए। कार्यकर्ताओं में उत्साह का संचार करते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा ही एक अनुशासित पार्टी है। 
कहा मुख्यमंत्री हरीश रावत तो मुझसे परेशान है, लेकिन उनसे ज्यादा परेशान ऊर्जा निगम है। जहां कार्यक्रम में जता हूं वहां बिजली गुल कर दी जाती है। क्योंकि ऊर्जा निगम में भ्रष्ट एमडी बैठा हुआ है। भ्रष्ट एमडी सीएम का सबसे लोकप्रिय अधिकारी है।

मुख्यमंत्री और विधानसभा अध्यक्ष ने अपने 300 रिश्तेदारों और चेहतों को विधानसभा में नियुक्तियां की है। जिन गरीब मां-बाप के बेटे और बेटियों को मैने उपनल के माध्यम से नियुक्ति दी थी। प्रतिशोध की भावना से मुख्यमंत्री ने उन्हें नौकरी से निकाल दिया है।

कार्यकर्ताओं को रावत ने संदेश दिया है कि 2017 में उत्तराखंड को कांग्रेस मुक्त बनाना है। भ्रष्टाचारी रावण हरीश रावत की सरकार को भस्म करना है। कार्यकर्ताओं को प्रत्याशी का चेहरा नहीं, बल्कि कमल के फूल पर मतदाताओं को वोट देने के लिए प्रेरित करना है। इस मौके पर सुनीत कुमार, मनोज, कमल किशोर, विवेक, प्रेमलाल, कमल व राजेश शर्मा ने भाजपा की सदस्यता ली।

मौके पर स्वार्गाश्रम जोंक की नगर पंचायत अध्यक्ष शकुंतला राजपूत, पूर्व जिलाध्यक्ष गोविंद अग्रवाल, मंडलध्यक्ष भरत लाल, जिला पंचायत सदस्य मीरा रतूड़ी, विजय शर्मा, अनिल बडोला, सोनू राणा, राकेश अग्रवाल, विक्रम बिष्ट, आशा रौथाण, शिव कुमार गौतम, चेतन शर्मा, अनुराग पयाल, गजेंद्र नागर आदि उपस्थित थे। परमार्थ निकेतन के निदेशक महेश मिश्र ने डा.रावत को तुलसी का पौध भेंट किया। अमर उजाला


See More

 
Top