.

.




देहरादून  : 08 अगस्त , 2016

नाबालिग को भगाने के आरोप में पुलिस ने रविवार को लोगों के दबाव में फौजी और उसके पिता समेत तीन लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया। आक्रोशित लोगों ने आरोपियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की मांग की।

पुलिस के मुताबिक, नाबालिग को बहला-फुसलाकर ले जाने के आरोप में रविवार को कुटरी, चकरपुर निवासी फौजी चंद्र सिंह और उसके पिता पूरन सिंह को हिरासत में ले लिया। खटीमा कोतवाली पहुंची सैकड़ों महिलाओं और ग्रामीणों ने आरोपियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की मांग की। खटीमा निवासी पीड़ित महिला ने पुलिस को बताया कि कि उसकी नाबालिग पुत्री को 29 जून 2016 को कुटरी, चकरपुर निवासी चंद्र सिंह बहला फुसलाकर ले गया था। पुलिस के दबाव में आरोपी युवक नाबालिग को वापस लेकर आया।

युवक ने पंचायत के बीच माफी मांगते हुए उसकी बेटी के साथ विवाह करने की बात कही। इस पर उसने अपनी पुत्री को चन्द्र सिंह के साथ उसके घर भेज दिया। फौजी 31 जुलाई को छुट्टी पूरी होने की बात कहकर चला गया। महिला ने आरोप लगाया कि युवक का पिता उसकी बेटी को भागकर शादी करने और दहेज न लाने का ताना देने लगा। जब लड़की ने इसकी शिकायत फौजी से की तो फौजी ने नया षड्यंत्र रच डाला।

फौजी ने लड़की से कहा कि वह उसके दोस्त विक्की के साथ उसके पास चली आए। लड़की इसके लिए तैयार हो गई। लेकिन रास्ते में लड़की को पता चला कि फौजी ने यह काम उसे बदनाम करने के लिए किया है। आरोप लगाया कि फौजी ने उसे अनजान युवक के साथ भाग जाने की बात फैलाई।

फौजी पर जान से मारने की धमकी देने का भी आरोप लगाया है। पुलिस ने पीड़िता की मां की तहरीर पर चन्द्र सिंह, पूरन सिंह व विक्की के खिलाफ बहला-फुसलाकर भगा ले जाने का मुकदमा दर्ज कर दिया। एसएसआई जगदीश ठकरियाल ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। हिंदुस्तान


See More

 
Top