.

.




हरिद्वार न्यूज़ : 24 सितम्बर , 2016



विश्व की जानी मानी पत्रिका फोर्ब्स ने भारत के सौ सबसे अमीर व्यक्तियों की सूची जारी की है। इस बार अप्रत्याशित रूप से बाबा रामदेव के सहयोगी और पतंजलि आयुर्वेद के सह-संस्थापक आचार्य बालकृष्ण ने इस सूची में जगह बनाकर सभी को चौंका दिया है। फोर्ब्स ने भारत के सौ सबसे अमीर लोगों की सूची में आचार्य बालकृष्ण को 48वें स्थान पर रखा है। पत्रिका ने उनकी कुल संपत्ति 2.5 बिलियन डॉलर (लगभग 16000 करोड़ रुपये) आंकी है। पतंजलि आयुर्वेद के मुख्य कर्ता-धर्ता आचार्य बालकृष्ण की पतंजलि आयुर्वेद में 97 प्रतिशत का मालिकाना हक है।  बालकृष्ण पतंजलि के को-फाउंडर के साथ ही कंपनी के सीईओ भी हैं।  वहीं रिलायंस इंड्रस्ट्रीज के मुखिया मुकेश अंबानी 22.7 बिलियन डॉलर की संपत्ति के साथ इस बार भी भारत के सबसे अमीर ‍व्यक्ति बने हुए हैं। बालकृष्ण के नेतृत्व में पतंजलि आयुर्वेद भारत में सबसे तेजी से बढ़ने वाली कंपनी बन गई है। पिछले साल कंपनी ने 5000 करोड का कारोबार करके सभी प्रतिस्पर्धी कंपनियों की नींद उड़ा दी थी। वहीं बालकृष्ण ने इस वित्तीय वर्ष में कंपनी के सालाना रेवेन्यू को दोगुना बढ़ाकर दस हजार करोड़ तक ले जाने का लक्ष्य रखा है। गौरतलब है कि बाबा रामदेव ने हरिद्वार में आचार्य बालकृष्ण के साथ मिलकर 2006 में पतंजलि आयुर्वेद की स्थापना की थी। इसके बाद बालकृष्ण के नेतृत्व में कंपनी लगातार आगे ही बढ़ती गई। वहीं आश्चर्यजनक रूप से कंपनी के प्रमुख ब्रांड एंबेसडर और पहचान बाबा रामदेव की कंपनी में कोई हिस्सेदारी नहीं है। हालांकि जानकारों के मुताबिक उनका कंपनी पर पूरा नियंत्रण है। कंपनी की स्थापना के बाद से इसके उत्पादों ने ग्राहकों के बीच में ऐसा विश्वास बनाया कि कुछ ही सालों में पतंजलि जानी-मानी मल्टीनेशनल कंपनियों को टक्कर देने लगी। बालकृष्ण के नेतृत्व में कंपनी की सफलता ने पिछले साल सभी को चौंका दिया जब कंपनी ने 5000 करोड़ के कारोबार का दावा किया। वहीं नए वर्ष में दस हजार करोड़ के लक्ष्य ने प्रतिस्पर्धी कंपनियों की नींद उड़ा दी। इसके बाद दुनिया की नजर पतंजलि के व्यापार पर पड़ी।अमर उजाला




See More

 
Top