.

.



रुड़की न्यूज़ : 1 अक्टूबर  , 2016


भाई बहन मर्यादा भूलकर एक दूसरे के साथ जीने मरने की कसमें खाने लगे। परिजनों के समझाने के बाद भी दोनों मानने को तैयार नहीं हुए। आखिरकार दोनों के परिजनों ने उनसे किनारा कर लिया।
 रिश्ते के भाई बहन मर्यादा भूलकर एक दूसरे के साथ जीने मरने की कसमें खाने लगे। कोतवाली में पुलिस और उनके परिजनों के समझाने के बाद भी दोनों मानने को तैयार नहीं हुए। आखिरकार दोनों के परिजनों ने उनसे किनारा कर लिया। वहीं दोनों शादी करने की बात कह रहे हैं।

बाजूहेड़ी गांव निवासी एक युवक की ज्वालापुर निवासी बुआ की लड़की से करीब चार साल पहले प्रेम संबंध बन गए। उस समय दोनों नाबालिग थे। परिजनों को इस रिश्ते की भनक नहीं लग पाई। युवक रुड़की स्थित एक फैक्ट्री में काम करता है।

बालिग होने पर दोनों ही घर बसाने को राजी हो गए, लेकिन नजदीकी रिश्ता होने के चलते दोनों ही अपने परिजनों से शादी की बात नहीं कर पाए। गुरुवार को लड़की युवक से मिलने फैक्ट्री पहुंच गई। यहां पर युवती ने शादी के लिए दबाव डाला।


परिवार के डर के चलते दोनों ही देर शाम को कोतवाली पहुंच गए। पुलिस को बताया कि वह शादी करने वाले है। पुलिस ने जांच पड़ताल की तो पता चला कि दोनों रिश्ते में भाई बहन है। पुलिस ने दोनों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन बात नहीं बनी। इस पर पुलिस ने इनके परिजनों को सूचना दे दी। परिजन भी सूचना मिलने पर कोतवाली पहुंच गए। घंटों तक परिवार के लोग इन्हें रिश्ते की कसमें देते रहे, लेकिन दोनों ने एक साथ रहने का फरमान सुना दिया।


दोनों के बालिग होने की बात को देखते हुए पुलिस ने भी जबरदस्ती करने से इन्कार कर दिया। परिजनों और प्रेमी युगल ने एक दूसरे से संबंध रखने से इन्कार कर दिया। कोतवाली में परिजनों से रिश्ता तोड़ने की बात कहते हुए युवक कई बार भावुक भी हुआ। एसआइ अजय कुमार ने बताया कि दोनों बालिग है वह साथ रहने को स्वतंत्र है। जागरण 


See More

 
Top