2011 में रजनीकांत राणा की शूटिंग के दौरान बीमार पड़ गए थे. उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था. लेकिन हालत गंभीर होने के बाद उन्हें सिंगापुर रेफर किया गया. उन दिनों रजनीकांत की हालत बहुत ही नाजुक बनी हुई थी.

रजनीकांत की बीमारी की खबर सामने आने के बाद श्रीदेवी काफी दुखी हो गई थीं. रजनीकांत की सेहत में सुधार के लिए उन्होंने 1 हफ्ते के लिए व्रत रखने का फैसला किया. वह पुणे स्थित श्री साई बाबा मंदिर के दर्शन के लिए भी गई थीं. श्रीदेवी की दुआएं रंग लाईं और रजनीकांत की सेहत में तेजी से सुधार हुआ.

हिंदी सिनेमा की पॉपुलर हीरोइन श्रीदेवी के निधन से बॉलीवुड को भारी नुकसान हुआ है. एक्ट्रेस ने साउथ की फिल्मों के बड़े सुपरस्टार्स के साथ भी काम किया था. इनमें से एक हैं रजनीकांत. उनके निधन से रजनीकांत भी शोक में हैं. जैसे ही उन्हें यह दुखद खबर मिली, वो अपना सारा काम छोड़कर मुंबई के लिए निकले.

वे अनिल कपूर के घर पर एक्ट्रेस को श्रद्धांजलि देने पहुंचे. श्रीदेवी और रजनीकांत के बीच गहरा संबंध रहा है. रजनीकांत एक्ट्रेस को बहुत मानते थे. इसके पीछे एक खास वजह है जिसे जानकर आपको अंदाजा हो जाएगा कि क्यों सुपरस्टार रजनीकांत के लिए श्रीदेवी हमेशा कभी ना भुलाई जाने वाली शख्स रहेंगी.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, श्रीदेवी ने एक दफा बीमार पड़े रजनीकांत की स्पीडी रिकवरी के लिए 1 हफ्ते के व्रत रखे थे. वह पुणे स्थित श्री साई बाबा मंदिर भी गई थीं.

एक इंटरव्यू में एक्ट्रेस ने खुलासा किया था कि 1976 में आई उनकी पहली फिल्म ‘मोन्द्रु मुदिचू’ में उन्हें रजनीकांत से ज्यादा फीस मिली थी. श्रीदेवी ने बताया था कि फिल्म के लिए कमल हासन को 30,000 रुपये, रजनीकांत को 2000 और उन्हें 5000 रुपये दिए गए थे. उस समय रजनीकांत और श्रीदेवी दोनों ही नए कलाकार थे वहीं कमल हासन काफी फेमस थे.

श्रीदेवी ने रजनीकांत की तारीफ में कहा था, रजनीकांत बहुत ही दयालु और विनम्र इंसान हैं. वह किसी को परेशानी में नहीं देख सकते. रजनीकांत हमेशा लोगों की मदद करने को तैयार रहते थे. बता दें, रजनीकांत श्रीदेवी की मां के काफी करीब थे. उनकी मां उन्हें बेटे के समान मानती थीं.

एक्ट्रेस के निधन के बाद रजनीकांत ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि श्रीदेवी का जाना मेरे लिए एक अच्छा दोस्त खोना है. भगवान उनकी आत्मा को शांति दें.



http://ift.tt/2Faysoa


See More

 
Top