आजकल आम आदमी पार्टी चारों ओर से संकटो से घिरी नजर आ रही है. एक तरफ जहाँ बीजेपी और मनोज तिवारी मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को मुख्य सचीव अंशू प्रकाश से हुए मारपीट के मुद्दे पर घेर रहे है वही आज कांग्रेस नेता और दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री हारुन यूसूफ ने सोमवार को आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी सरकार अनुसूचित जाति, जनजाति, पिछड़ा वर्ग और अल्संख्यक विरोधी है.

उन्होंने गरीबों और हाशिए के लोगों के लिए कल्याणकारी योजनाओं में भारी कमी की है जो आप की मानसिकता को दर्शाता है. हारुन यूसूफ ने कहा कि केजरीवाल सरकार अपनी असफलताओं से लोगों का ध्यान भटकाते हुए दिल्ली के लोगों को भावुकता के मुद्दे पर फंसा कर दिल्ली के लोगों का ध्यान दिल्ली के असल मुद्दों से हटाना चाहती है और यही वजह है कि अब उसके विधायक दिल्ली के अफसरों को पीट रहे हैं.

हारून ने आरोप लगाया कि दिल्ली सरकार ने दिल्ली के दलितों, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अल्संख्यकों को मिलने वाली योजनाओं का लाभ पहुंचाने में पूरी तरह असफल रही है. वहीं आवंटित बजट का 50 फीसदी भी केजरीवाल सरकार खर्च नहीं कर पाई है.

हारून ने आंकड़े जारी करते हुए आरोप लगाया कि कांग्रेस की सरकार ने 2013-14 में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछडे़ वर्ग के 7,62,847 छात्रों को स्टेशनरी खरीदने के लिए वित्तीय सहायता दी थी, जबकि केजरीवाल सरकार ने 2016-17 में एक भी छात्र को वित्तीय सहायता नही दी.

हारून ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने ST/SC/OBC के 7,03,452 बच्चों को पहली से बारहवीं तक स्कॉलरशिप दी थी जबकि AAP सरकार ने 2016-17 में 1,49,711 को स्कॉलरशिप दी है.



http://ift.tt/2CnHA7R


See More

 
Top