नई दिल्‍ली : पूर्व केंद्रीय वित्‍त मंत्री और वरिष्‍ठ कांग्रेसी नेता पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम को सीबीआई ने बुधवार को चेन्‍नई से गिरफ्तार कर लिया. कार्ति की गिरफ्तारी मनी लॉन्ड्रिंग मामले में हुई है. सीबीआई का कहना है कि कार्ति जांच में सहयोग नहीं कर रहे थे, इसलिए उनकी गिरफ्तारी की गई.

कार्ति के सीए को 14 दिन की न्यायिक हिरासत

उल्‍लेखनीय है कि इससे पहले 26 फरवरी को दिल्ली की एक अदालत ने कार्ति चिदंबरम के चार्टर्ड एकाउंटेंट (सीए) एस भास्कररमन को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था. भास्कररमन को आईएनएक्स मीडिया से जुड़े धनशोधन मामले में गिरफ्तार किया गया था.

पांच सितारा होटल से हुई थी सीए की गिरफ्तारी

विशेष न्यायाधीश एनके मल्होत्रा ने सीए को तिहाड़ जेल भेज दिया था. इससे पहले उन्हें प्रर्वतन निदेशालय (ईडी) की हिरासत से अदालत में पेश किया गया था. ईडी के विशेष लोक अभियोजक नीतेश राणा ने उनसे और तीन दिन की न्यायिक पूछताछ के लिए अनुमति मांगी थी. भास्कररमन को 16 फरवरी को राष्ट्रीय राजधानी में एक पांच सितारा होटल से गिरफ्तार किया गया था.

आईएनएक्स मीडिया मामले में आरोपी हैं कार्ति

कार्ति का नाम 2007 में आईएनएक्स मीडिया में कोषों को स्वीकार करने के लिए विदेशी निवेश संबर्धन बोर्ड की मंजूरी से जुड़े एक मामले में सामने आया है. उस समय उनके पिता पी चिदंबरम केंद्रीय वित्त मंत्री थे. ईडी ने विगत में दावा किया था कि सीए भास्कररमन ‘‘गलत तरीके से अर्जित संपत्ति’’ के प्रबंधन में कार्ति की मदद कर रहे थे.



http://ift.tt/2F6vam7


See More

 
Top