देहरादून- उत्तराखण्ड की अनोखी लोक परम्परा के प्रतीक फूलदेई त्यौंहार के अवसर पर राजभवन पहुंचे बच्चों ने राजभवन के प्रांगण में फूल बरसाए। हाथों में आकर्षक फूलों की छोटी-छोटी टोकरियां थामे बच्चों ने ‘‘फूल देई, फूल-फूल माई’’ बोलते हुए राज्यपाल डाॅ. कृष्ण कांत पाल को शुभकामनाएं दीं।
राज्यपाल ने बड़े उत्साह के साथ बच्चों का स्वागत किया और उन्हें चावल, मिठाई व उपहार भेंट किए। प्रकृति के साथ सुख-शान्ति और समृद्धि की शुभकामनाएं लेकर राजभवन की दहलीज पर बच्चों ने फूल बरसाये।
राज्यपाल ने भी प्रत्येक बच्चे से मिलते हुए उन्हें उपहार भेंट किए और उनकी टोकरियों में चावल डालते हुए बच्चों के खुशहाल व उज्जवल भविष्य की कामना की।
राज्यपाल ने कहा कि प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर उत्तराखण्ड जैसे पर्वतीय राज्य में चैत्र मास में मनाया जाने वाला फूल देई पर्व प्रकृति संरक्षण का संदेश देता है। फूलदेई त्यौंहार उत्तराखण्ड की एक विशिष्टता है और समूचे विश्व में इस त्यौंहार के माध्यम से प्रकृति व लोक जीवन की निकटता का संदेश देता है।
यह देखकर बड़ी खुशी होती है कि फूलों के त्यौंहार को फूल से बच्चे बड़े उत्साह के साथ मना रहे हैं। हमें अपने लोक संस्कृति व लोक परम्पराओं से बच्चों को जोड़ना होगा। इससे हर बच्चा अपने लोक पर्व के महत्व व भूमिका से सरल रूप से परिचित हो जाता है और बचपन से ही अपनी संस्कृति से जुड़ जाता है।


http://ift.tt/2tP3rlk


See More

 
Top